बिझड़ी सीएचसी खुद बीमार

बिझड़ी —ढटवाल की जनता को खुश करने के लिए पीएचसी बिझड़ी को नोटिफाई कर सीएचसी तो कर दिया गया, लेकिन यहां पर नाम बड़े गांव उज्जड़ की कहावत चरितार्थ हो रही है। हालत ये हंै कि लोगों को मिलने वाली सुविधाएं सीएचसी की नोटिफिकेशन के बाद बढ़ने की बजाय कम हो गई हैं। नोटिफिकेशन होने के बाद बिझड़ी सीएचसी में चिकित्सक व चतुर्थ श्रेणी के पद सृजित किए जाने थे। सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार तीन डाक्टर, एक फार्मासिस्ट, तीन स्टाफ नर्स, एक कलर्क व दो चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी यहां नियुक्त किए जाने थे, लेकिन नोटिफिकेशन के बाद लगता है सरकार व विभाग कुभकर्णी नींद सो चुके हैं। यहां डाक्टर व स्टाफ नर्स के पद तो भर दिए गए, लेकिन विभाग चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद भरना शायद भूल गया है। यही कारण है कि दो दर्जन के लगभग पंचायतों के स्वास्थ्य का जिम्मा संभाल रहे इस सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में शाम चार बजे से सुबह नौ बजे तक ताला लटका रहता है। चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के पद न भरे जाने के कारण रात्रिकालीन व आपातकालीन सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित हो रही हैं। बताते चलें कि अगर ढटवाल के लोगों को आपातकालीन चिकित्सा सहायता लेनी हो तो बिझड़ी सीएचसी ही उनका एकमात्र सहारा है, लेकिन रात्रि व छुट्टी के दिन यहां कोई भी डाक्टर व स्टाफ उपलब्ध न होने के कारण उनको बड़सर या हमीरपुर जाना पड़ता है। लोगों का कहना है कि अस्पताल का नाम पीएचसी से सीएचसी लिखे जाने से काम नहीं चलने वाला है। स्थानीय लोगों की सरकार व विभाग से मांग है कि इस सीएचसी को तुरंत प्रभाव से फंकशनल किया जाए। रमन बन्याल, बब्बी शर्मा, ओंकार, ओमकार दत्त, रजनीश, सतीश ठाकुर, नवजोत शर्मा, सुरेंद्र, धर्मपाल व  अन्य लोगों का कहना है कि अगर बिझड़ी सीएचसी को पूरी तरह फंक्शनल नहीं किया गया, तो वह इस संबंध में डीसी हमीरपुर को ज्ञापन सौंपा जाएगा और जरूरत पड़ी, तो धरना-प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं किया जाएगा। इस संदर्भ मंे इंद्रदत्त लखनपाल सीपीएस एवं विधायक बड़सर ने बताया कि चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की कमी के चलते समस्या आ रही है, लेकिन समस्या को दूर कर इस अस्पताल को शीघ्र ही फंकशनल कर दिया जाएगा। बीएमओ बड़सर डा. एचआर कालिया का कहना है कि समस्या ध्यान में है। शीघ्र ही समाधान कर दिया जाएगा। सीएमओ हमीरपुर डा. अर्चना सोनी के अनुसार मैंनें बीएमओ बड़सर को सीएचसी बिझड़ी को  फंक्शनल करने के निर्देश दे रखे हैं।

You might also like