बिन बरसे ही छंट गए बादल

शिमला—जिला शिमला मंे शुक्रवार को आसमान मंे काले बादल जरूर घिरे, मगर बादल बिन बरसे ही छंट गए। आसमान में काले बादलों के घिरे के बाद जनता भारी बारिश की उम्मीदें लगा रही थी, लेकिन बादलों के छंटने के साथ ही लोगों की उम्मीदों को झटका लगा है। हालांकि मौसम विभाग द्वारा जिला शिमला मंे आगामी 18 जुलाई तक बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। विभाग ने इस दौरान जिला शिमला के अनेक स्थानों पर बारिश होने की संभावना जताई है, मगर मौसम की बेरूखी को देखकर जनता मायूस है। शिमला के साथ-साथ ऊपरी शिमला में शुक्रवार सुबह से ही मौसम खराब बना रहा। जिला के अधिकांश क्षेत्रों में धुंध घिरी रही। मौसम के कडे़ तेवर देख कर जनता बारिश होने की संभावना लगा रही थी, मगर शिमला में इस दौरान बारिश नहीं हो पाई, जिसके चलते जनता के  हाथ फिर से निराशा लगी है। जिला शिमला में मानसून के दौरान अभी सामान्य से कम बारिश हुई है। बारिश कम होने से किसान व बागबान चिंतित हैं। किसानांे व बागबानांे का कहना है कि मौसम के मिजाज अगर ऐसे ही बने रहते हैं तो जनता को आगामी दिनांे के दौरान सूखे की मार झेलनी पड़ सकती है। खासतौर पर इसकी ज्यादा मार मुख्य आर्थिकी पर पड़ सकती है।

दो दिन भारी बारिश

जिला शिमला में दो दिनों के दौरान भारी बारिश होगी। मौसम विभाग ने जिला शिमला के कुछ स्थानों पर 14 व 15 जुलाई को भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग की चेतावनी अगर स्टीक बैठती है तो जनता के इंतजार की घडियां पूरी हो सकती हैं। बीते 24 घंटों के दौरान जिला के शिमला व मशोबरा में बारिश रिकॉर्ड की गई है। मशोबरा में दो मिलीमीटर तक बारिश आंकी गई है, जबकि शिमला में एक मिलीमीटर बारिश हुई है।

You might also like