बिलासपुर अस्पताल में मिलेगी राहत, तीन नए डाक्टर मिले

बिलासपुर—क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर को मिले चार नए चिकित्सकों में से तीन विशेषज्ञों ने अपनी सेवाएं देना आरंभ कर दी हैं। हालांकि एनेस्थीसिया चिकित्सक की परीक्षाएं होने के कारण इन्होंने अभी कार्यभार नहीं संभाला है। मगर आर्थो, सर्जरी व रेडियोलॉजिस्ट द्वारा सेवाएं देने से मरीजों को काफी राहत मिली है। अब अस्पताल में दो सर्जन, आर्थो के तीन विशेषज्ञ, दो रेडियेलॉजिस्ट एक साथ अपनी सेवाएं दे रहे हैं। क्षेत्रीय अस्पताल के एमएस डा. राजेश आहलूवालिया ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि सरकार ने सर्जन डा. शमशेर सिंह, अस्थि रोग विशेषज्ञ डा. तरुण व रेडियोलॉजिस्ट डा. अभिषेक की तैनाती की है। इसके अलावा एनेस्थीसिया विशेषज्ञ डा. मनुज कुमार भी जल्द अस्पताल में अपनी सेवाएं देगें। डा. आहलूवालिया ने बताया कि हाल ही में आईजीएमसी से निकले नए बैच के बाद बिलासपुर अस्पताल को ऑर्थो, सर्जरी, रेडियोलॉजिस्ट व एनेस्थीसिया चिकित्सक मिले हैं व सभी ज्वाइन करने के उपरांत अपनी परीक्षाएं देने तक अवकाश पर चले गए थे। इनमें तीन की परीक्षाएं समाप्त होने पर इन्होंने अपना कार्यभार संभाल लिया है, जबिक एक चिकित्सक का आना अभी बाकि है। बहरहाल बिलासपुर को चार नए चिकित्सका विशेषज्ञों के मिलने से मरीजों की सुविधाएं बढ़ने वाली हैं। बता दें कि नए चिकित्सकों के जवाइन करने के उपरांत अस्पताल के सर्जरी डिपार्टमेंट में दो सर्जन हो गए है। इसके अलावा ऑर्थाे में नए चिकित्सक के आने के बाद यहां तीन चिकित्सक व दो रेडियेलॉजिस्ट सेवाएं देंगे। वहीं अस्पताल में अब बेहोशी के डाक्टर की भी स्थायी तैनाती हो गई है। बता दें कि अब तक अस्पताल में बेहोशी का डाक्टर न होने से अस्पताल प्रशासन को एनेस्थीसिया चिकित्सक को हायर करना पड़ता था। अलबता अब क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर चरमराई हुई व्यवस्थाओं में सुधार होने की उममीद जताई जा रही है। लगातार कम हो रहे चिकित्सकों के कारण अस्पताल के विभिन्न विभागों में तैनात विशेषज्ञों को डे-नाइट अस्पताल में अपनी सेवाएं देनी पड़ रही थी व अस्पताल के विभिन्न विभागों की ओपीडी भी प्रभावित हो रही थी। इसका खामियाजा बिलासपुर की आवाम को भुक्तना पड़ रहा है। अब राहत की बात यह है कि नए चिकित्सकों के आने  से मरीजों को शिमला व टांडा के चक्करों से भी छुटकारा मिलने वाला है। वहीं, क्षेत्रीय अस्पताल, बिलासपुर मेडिकल सुपरिंटेंडेंट अस्पताल डा. राजेश आहलूवालिया ने कहा कि चार नए चिकित्सकों में से तीन ने अपनी नियमित सेवाएं देना आरंभ कर दी हैं। एनेस्थीसिया चिकित्सक भी परीक्षाएं खत्म होने के बाद जल्द अपनी सेवाएं देना आरंभ कर देगें।

You might also like