भरमौर को बीमार करने लगा कूड़ा संयंत्र

भरमौर—भरमौर के पट्टी स्थित कूड़ा संयंत्र से स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभाव से बचने को लेकर अब लोगों ने सड़कों पर उतरने का मन बना लिया है। लोगों ने रोष जताते हुए कहा कि पिछले कई वर्षों से इस कूड़ा संयंत्र को अन्य स्थान पर बदलने की गुहार लगाई जाती रही है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है, जिस कारण भरमौर मिनी सचिवालय के समीप स्थित कूड़ा संयंत्र केंद्र लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गया है। इस कूडा संयंत्र केंद्र में लगे कूडे के ढेरों से लोगों को अब भयानक बीमारियों के फैलने का अंदेशा सताने लगा है।  पट्टी, गोसन, सपैडका व उत्तरांचल गांवों के लोगों ने बताया कि इस कूड़ा संयंत्र को यहां से स्थानात्रित के लिए भरमौर प्रशासन से कई बार आग्रह कर चुके हैं, मगर आज तक इस मांग को पूरा नही किया गया है। उन्हांेने बताया कि भरमौर मिनी सचिवालय के नजदीक बने इस कूड़ा संयंत्र की दीवारें गिरे लगभग तीन वर्ष हो गए हैं। गाडियों के माध्यम से यहां हर रोज समूचे बाजार का कूड़ा फेंका जाता है, जोक संयंत्र की दीवारें न होने के कारण चारों तरफ  बिखर जाता है। कूड़े को डिस्पोज करने के लिए आग लगा दी जा रही है। उन्होंने कहा कि अगर जल्द समस्या का हल न किया, तो वे आंदोलन की राह अपनाने से भी गुरेज नहीं करेंगे, जिसकी सारी जिम्मेदारी उपमंडलीय प्रशासन की होगी। उधर, एडीएम भरमौर पी पी सिंह का कहना है कि मामला उनके ध्यान में लाया गया है। उन्होंने कहा कि जल्द ही उचित कार्रवाई अमल में लाकर लोगों की समस्या का हल कर दिया जाएगा।

You might also like