भरली कालेज आंजभोज में बुक बैंक की सुविधा शुरू

नाहन -राजकीय महाविद्यालय भरली आंजभोज निरंतर बुलंदियां हासिल कर रहा है। वर्तमान सत्र में महाविद्यालय द्वारा बुक बैंक की स्थापना की गई है, जिसका विधिवत उदघाटन प्राचार्य राजेंद्र कुमार शर्मा द्वारा गुरुवार को किया गया। बुक बैंक स्कीम के अंतर्गत आर्थिक रूप से पिछड़े छात्र-छात्राओं को सभी विषयों की पुस्तकें संपूर्ण वर्ष भर के लिए निःशुल्क दी जा रही है। इसके लिए विद्यार्थियों से केवल रिफंडेबल सिक्योरिटी जमा करवाई जा रही है जो सत्र के समाप्त होने पर परीक्षाओं के उपरांत पुस्तकें वापस जमा करने के बाद बच्चों को पूरी राशि वापस कर दी जाएगी। इस तरह की सुविधा हिमाचल के चंद कालेजों में ही उपलब्ध है तथा राजकीय महाविद्यालय भरली किसी भी अन्य कालेजों से पीछे नहीं है, जबकि इस महाविद्यालय की स्थापना हुए मात्र चार वर्ष ही हुए हैं। यह कालेज दूरदराज क्षेत्र में का एक महाविद्यालय है जो 2015 में खोला गया था। इस महाविद्यालय में बीए प्रथम वर्ष तथा बीए द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों को मुफ्त पुस्तकें वितरित की गई। विद्यार्थियों की सुविधाओं के लिए एक अनूठी पहल है, ताकि क्षेत्र के गरीब विद्यार्थी समय पर पुस्तकों की उचित सुविधा प्राप्त कर सकें और वह भी निःशुल्क। इस कार्य के लिए प्राचार्य राजेंद्र कुमार शर्मा व महाविद्यालय के अन्य कर्मचारी बधाई के पात्र हैं, जिन्होंने इस सुविधा को छात्र-छात्राओं तक मुहैया करवाया है, क्योंकि इस कार्य को अंजाम तक पहुंचाने के लिए कर्मचारियों ने दिन-रात जी-तोड़ मेहनत करके इस कार्य को पूरा किया है।

You might also like