भोले के जयकारों से गूंजे शिवालय

पांवटा साहिब—श्रावण के पहले सोमवार को पांवटा साहिब के शिव मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। सोमवार को सुबह से ही शिव भक्त शिवालयों में भोले बाबा की पूजा-अर्चना करते देखे गए। भक्त मंदिर गए तथा शिवलिंग पर दूध व जल चढ़ाकर भोले को प्रसन्न करते देखे गए। भोले बाबा का माह कहलाने वाला श्रावण माह आरंभ हो चुका है, जहां देखो भोले शंकर भगवान की जय-जयकार की गूंज सुनाई दे रही है। पांवटा मंे भी श्रावण के पहले सोमवार को भोले बाबा के भक्त यहां के पातालेश्वर महादेव मंदिर, बद्रीपुर शिव मंदिर व गीता भवन शिव मंदिर, तारुवाला शिव मंदिर, बांगरण चौक मंदिर, विश्वकर्मा शिव मंदिर, रामपुरघाट शिव मंदिर सहित कई शिव मंदिरों में पूजा-पाठ करते देखे गए। पातलेश्वर महादेव मंदिर में तो सुबह से ही लंबी कतारों मंे भक्त भोले के दर्शनों के लिए खड़े देखे गए। वहीं श्रावण आरंभ होते ही पांवटा में कांवडि़यों के लिए सेवा केंद्र भी तैयार होने लगे हैं। यहां के बांगरण चौक पर कांवड़ सेवा शिविर तैयार करवाया जा रहा है। पांवटा साहिब में पातालेश्वर महादेव मंदिर सहित बांगरण चौक व विश्वकर्मा मंदिर और माजरा में कांवडि़यों के ठहराव व जलपान की व्यवस्था के प्रबंध भोले के भक्तों ने आरंभ कर दिए हैं। सावन माह के पूरे एक माह चलने वाली कांवड़ यात्रा के लिए पांवटा पूरी तरह से तैयार है। सावन के महीने में हिमाचल, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा व पंजाब से हजारों की तादाद में कांवडि़ये गंगाजल लेने पांवटा साहिब होते हुए हरिद्वार जाते हैं। रास्ते में विश्राम करने के लिए पांवटा एक उपयुक्त स्थान पड़ता है, जिस कारण भोले बाबा के भक्त यहां पर सेवा केंद्र स्थापित कर कांवडि़यों के विश्राम व खानपान का पूरा प्रबंध करते हैं। बहरहाल पांवटा साहिब बम भोले बाबा के रंग में रंग गया है।

You might also like