भोले के नाम पर धुएं के छल्ले

श्रीखंड जा रहा युवक चरस के साथ गिरफ्तार, टेंट्स में खूब चल रहा नशे का कारोबार

 कुल्लू —उत्तरी भारत की सबसे कठिन यात्राओं में शुमार श्रीखंड यात्रा में आस्था के नाम चल रहे नशे की डुबकी का खुलासा हुआ है। निरमंड पुलिस ने श्रीखंड यात्रा पर जा रहे एक युवक को चरस के साथ दबोच लिया। इससे यह उजागर हुआ है कि श्रीखंड यात्रा के दौरान आस्था के बहाने नशे का कारोबार चल रहा है। वहीं, सौदागरों ने नशे का गोरखधंधा चला रखा है। प्रदेश के अग्रणी समाचार पत्र ‘दिव्य हिमाचल’ ने हाल ही में 18 जुलाई को यह मुद्दा प्रमुखता से उठाया था। पुलिस ने हरकत में आते हुए तीसरे दिन यानी 20 जुलाई शनिवार को चैकिंग के दौरान एक युवक से दस ग्राम चरस बरामद की। हालांकि पकड़ी गई चरस की मात्रा कम है, लेकिन इससे यह खुलासा हुआ है कि श्रीखंड यात्रा के दौरान नशे का कारोबार चल रहा है। शनिवार को पुलिस ने आस्था के बहाने नशे का कारोबार करने की मंशा से श्रीखंड महादेव की धार्मिक यात्रा पर गए बंजार के एक युवक को गिरफ्तार किया। एसपी गौरव सिंह ने बताया कि निरमंड थाना में तैनात एएसआई मानदेव शर्मा की टीम ने चैंकिंग के दौरान बागीपुल-जांओ रोड पर एक युवक को रोका और शक के आधार पर उसकी तलाशी ली, तो उसके कब्जे से दस ग्राम चरस बरामद की गई। एसपी ने बताया कि चरस के साथ पकड़े गए यवुक की पहचान 24 वर्षीय केवल राम निवासी बठाहड़ बंजार के रूप में हुई है। पुलिस ने युवक के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। चरस के साथ दबोचा युवक श्रीखंड यात्रा के लिए जा रहा था। एसपी ने बताया कि नशे का कारोबार करने वालों को किसी भी सूरत बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस ने एक टीम चैकिंग के लिए तैनात कर रखी है। हर शख्स पर नजर रखी जा रही है।

पर्वतारोही ने फेसबुक पर सीएम से की थी शिकायत

पिछले दिनों श्रीखंड यात्रा पर गए भारतीय पर्वतारोही डा. ललित मोहन ने बाकायदा श्रीखंड यात्रा के पूरे ट्रैक पर जहां भी श्रद्धालुओं को ठहरने के लिए टेंट लगाए हैं, वहां पूरी रात भोले के नाम भांग के धुएं के छल्ले उड़ाने के बारे में फेसबुक पर एक सूचना मुख्यमंत्री और एसपी कुल्लू को लिखी थी, जिसमें तुरंत कार्रवाई करने की मांग की गई थी। पर्वतारोही ने कहा था कि रातभर टेंट्स में कसोल और मलाणा शॉट सुनने को मिल रहे थे। वहीं, ‘दिव्य हिमाचल’ से विशेष बातचीत में पर्वतारोही ने कहा था कि श्रीखंड यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को रहने के लिए जो 500 से अधिक टेंट लगे हुए थे, वहां अधिकतर टेंटों में भांग का नशा चल रहा था। वहीं, खबर प्रकाशित होते ही पुलिस हरकत में आई और कार्रवाई शुरू कर दी।

You might also like