मल्टीमीडिया लाइट शो शुरू करेगी सरकार

 फिल्म निर्माताओं से मुलाकात में सीएम ने जानी संभावनाएं

 हिमाचल के पास है अपनी पॉलिसी

शिमला —प्रदेश में फिल्म पॉलिसी बनाने के बाद सरकार ने फिल्म निर्माताओं के साथ संभावनाओं पर चर्चा शुरू कर दी है। मंगलवार को शिमला में मुख्यमंत्री ने उनके साथ बैठक की। मुलाकात में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार स्थानीय लोगों तथा पर्यटकों को मनोरंजन के अतिरिक्त आकर्षण उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से राज्य के कुछ चुनिंदा स्थानों पर बहुआयामी मल्टीमीडिया लाइट शो शुरू करने पर विचार कर रही है। जयराम ठाकुर ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित अभिनेता, निर्माता एवं मीडिया उद्यमी दीपा साही द्वारा दी गई प्रस्तुति के दौरान यह बात कही। वह माया नगरी वर्डवन कंपनी की चेयरपर्सन हैं। कंपनी द्वारा गोविंदगढ़ किले को एक उच्च स्तरीय सांस्कृतिक केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए पहल की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मल्टीमीडिया लाइट तथा नवीनतम मनोरंजन प्रौद्योगिकी की सहायता से सांस्कृतिक उद्यमों के लिए एक व्यावहारिक मॉडल तैयार किया जा सकता है। हिमालय क्षेत्र के मिथकों और किवदंतियों को दर्शाने के भी प्रयास किए जाने चाहिए। यह पर्यटकों के लिए बड़ा मनोरंजक होगा, क्योंकि इससे ऐसा प्रतीत होगा कि पहाड़ जीवंत हो उठे हैं और दर्शकों से स्वयं बातें कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि कम्प्यूटर निर्मित दृश्य, डिजिटल विजुअल इफेक्ट्स, लाइव शूटिंग, पेंटिंग, लेजर लाइट और साउंड के माध्यम से बनाए गए एपिक शो एक भव्य एवं प्रभावशाली दृश्य प्रस्तुत करेंगे। पर्यटकों को हाइड्रोलिक मूविंग प्लेटफॉर्म की सहायता से 3-डी के माध्यम से रोमांचकारी साहसिक खेलों के 7-डी जैसा प्रभाव प्रदान किया जा सकता है। अतिरिक्त मुख्य सचिव डा. श्रीकांत बाल्दी, सचिव भाषा और संस्कृति डा. पूर्णिमा चौहान, निदेशक पर्यटन सीपी वर्मा, प्रधान मुख्य वन अरण्यपाल अजय कुमार, प्रबंध निदेशक एचपीटीडीसी कुमुद सिंह, सीएम के प्रधान निजी सचिव विनय सिंह सहित अन्य भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।

You might also like