मांगें न मानीं तो करेंगे प्रदर्शन

चंबा -एक ऑटोमोबाइल कंपनी की कर्मचारी यूनियन चंबा ने कंपनी प्रबंधन की हठधर्मिता को देखते हुए अब आंदोलन को तेज करने का फैसला लिया है। यूनियन का कहना है कि सोमवार तक मांगों को लेकर कोई कार्रवाई न होने की सूरत में मुख्यालय में जोरदार प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कंपनी प्रबंधन के नकारात्मक रवैये के बीच जिला प्रशासन की ओर से मामले में कोई हस्तक्षेप न करने के चलते उन्हें मजबूरन यह कड़ा फैसला लेने को बाध्य होना पड़ रहा है। शुक्रवार को यूनियन के प्रतिनिधिमंडल ने एडीसी हेमराज बैरवा से भी मुलाकात की। उन्होंने एडीसी को ज्ञापन सौंपकर अपने भावी फैसले की जानकारी दे दी है। कर्मचारियों ने बताया कि कंपनी श्रम नियमों की अवहेलना कर रही है। और हड़ताल के 25 दिन बीत जाने के बाद भी कंपनी ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। जिस कारण कर्मचारियों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। कंपनी में करीब 178 कर्मचारी वर्तमान समय में काम कर रहे हैं, जिनका कंपनी द्वारा शोषण किया जा रहा है। कर्मचारियों को प्रदेश सरकार के नियमों के अनुसार पेमेंट नहीं मिलती है। कर्मचारियों को ओवरटाइम भी नहीं दिया जा रहा है। सरकार के नियमोें के अनुसार सात दिन की कैजुअल लीव मिलती है, लेकिन उन्हें इस सुविधा से भी महरूम रखा जा रहा है। कर्मचारी के अनुपस्थिति रहने पर वेतन काटा जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में कर्मचारियों ने एक प्रार्थना पत्र श्रम अधिकारी को दिया था, जिस पर उनके द्वारा 15 दिनों के भीतर मांगों को पूरी करने के आदेश दिए गए थे। मगर इसके बावजूद आज दिन तक मांगें पूरी नहीं की गई हैं। इससे पहले कर्मचारियों ने कार्यालय परिसर के बाहर भी जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

 

 

You might also like