मुख्य सचिव की किताब में ज़मीन से जुड़ी हर बात

 बीके अग्रवाल ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को भेंट की अपनी बुक ‘लैंड रजिस्ट्रेशनः ग्लोबल प्रैक्टिसिज एंड लेसन्स फॉर इंडिया’

 किताब में भू-पंजीकरण प्रणाली की अंतरराष्ट्रीय तस्वीर

 शिमला —मुख्य सचिव बीके अग्रवाल ने सोमवार को यहां मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को अपनी पुस्तक ‘लैंड रजिस्ट्रेशन’ ग्लोबल प्रैक्टिसिज एंड लेसन्स फॉर इंडिया भेंट की। इस पुस्तक का विमोचन हाल ही में भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने किया था। जयराम ठाकुर ने कहा कि इस पुस्तक में भू-रिकॉर्ड पंजीकरण के विभिन्न पहलुओं पर वृहद प्रस्तुति दी है, जो वास्तव में नीति निर्धारकों, वकीलों, राजस्व से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों, विभिन्न प्रदेशों के राजस्व विभागों तथा इस क्षेत्र से जुड़े शोधकर्ताओं व विशेषज्ञों के लिए अत्यंत उपयोगी होगी। इसके साथ ही आम आदमी को भी इस पुस्तक का बहुत लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि विशेषकर नीतिकारों, भू-प्रशासकों और शोधकर्ताओं को यह पुस्तक अवश्य पढ़नी चाहिए। इस पुस्तक में डीड रजिस्ट्रेशन प्रणाली व टाइटल रजिस्ट्रेशन प्रणाली पर अत्यंत सहज, सरल और तथ्यों पर आधारित चर्चा की है। इस पुस्तक की विशेषता स्पष्ट लेखन, गहन अनुसंधान और भू-पंजीकरण प्रणाली की अंतरराष्ट्रीय तस्वीर है। उन्होंने दुनिया के छह विकसित देशों, अमरिका, फ्रांस, नीदरलैंड्स, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और जर्मनी में प्रचलित भू-पंजीकरण प्रणालियों का गहन शोध करने के बाद इस पुस्तक के माध्यम से उसकी विस्तृत तस्वीर प्रस्तुत की है। उन्होंने भारत में इस समय प्रचलित भू-पंजीकरण प्रणाली का भी उल्लेख करते हुए देश के चार बड़े राज्यों महाराष्ट्र, कर्नाटक, पंजाब और पश्चिम बंगाल में रिकॉर्ड ऑफ राइट्स के संबंध में प्रचलित कानूनों का बारीकी से विश्लेषण किया है। उन्होंने इस बात पर बल दिया है कि देश के विभिन्न भागों में रिकॉर्ड ऑफ राइट्स और भू-पंजीकरण प्रणालियों से संबंधित कानूनों में एकरूपता व समानता नहीं है।

शहरों में सुधार की जरूरत

बीके अग्रवाल ने प्राथमिकता से सामने रखा है कि ग्रामीण क्षेत्रों के मुकाबले शहरी क्षेत्रों में भू-प्रशासन में आधारभूत सुधार की आवश्यकता है। उन्होंने वर्तमान डीड्स पंजीकरण प्रणाली में सुधार के सुझाव दिए हैं, जो ‘ईज़ ऑफ रजिस्ट्रेशन’ और ‘ईज़ ऑफ  डूइंग बिजनेस’ की सुविधा देने में सहायक होंगे।

भू-प्रशासन में माहिर हैं बीके अग्रवाल

बीके अग्रवाल को भू-प्रशासन का वर्षों का अनुभव है और अपने सेवाकाल के दौरान उन्होंने भूमि से जुड़े प्रशानिक कार्यों विशेषकर राजस्व से जुड़े मामलों को सफलतापूर्वक निपटाया है।

You might also like