रामपुर-रोहडू रोड फिर ठप

रामपुर बुशहर –रामपुर उपमंडल की दस पंचायतों सहित रोहडु को जोड़ती सड़क शुक्रवार को एक बार फिर बाधित हो गई। भारी ब्लास्टिंग से पूरी चट्टान सड़क के बीच में आ गिरी जिससे करीब  घंटे सड़क मार्ग पर पूरी तरह से यातायात बाधित रहा। भारी मलबे को हटाने के लिए सड़क के दोनों ओर से लगी मशीनों को दिन भर खासी मशक्कत करनी पड़ी। सुबह दस बजे से बंद पड़ा ये मार्ग खबर लिखे जाने तक भी बहाल नही हो पाया था। वहीं सड़क बंद होने से दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारे लगी रही। स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि सड़क को चोड़ा करने के काम में लगे ठेकेदार द्वारा नियमों को दरकिनार कर ब्लास्टिंग की जा रही है। जिससे ये समस्या पेश आ रही है। एक सप्ताह पूर्व भी यहां हुई ब्लास्टिंग के चलते मार्ग अवरूद्ध हुआ था जिससे करीब 10 घंटों तक सड़क मार्ग बाधित रहा था। लोगों का कहना है कि ठेकेदार को  ब्लास्ट करने के लिए ऐसा समय चुनना चाहिए जब सड़क पर आवाजाही कम हो और सही मापदंड़ो के साथ ही ब्लास्टिंग करनी चाहिए। लेकिन ऐसा नही हो रहा है। जिस कारण पूरा ढांक नीचे उतर गया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक शुक्रवार सुबह दस बजे से ये सड़क बंद हो गई। ब्लास्टिंग के चलते इतने बड़े बड़े बोल्डर सड़क पर आ गिरे कि दोनों ओर से लगी जेसीबी मशीनों को भी इन्हें हटाने में खासी मशक्कत करनी पड़ी। सड़क बंद होने कारण वहां पर फंसे तुलाराम, सतीश बुशहरी, सिकंदर, साबू, बाबू राम, निटू कायथ व अन्य लोगों का कहना है कि लोक निर्माण विभाग को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जब भी सड़क को चौड़ा करने का काम चलता है तो संबंधित ठेकेदार को हिदायत दी जाए कि वह ब्लास्टिंग का काम ऐसे समय पर करे जब वाहनों की आवाजाही कम हो। लेकिन सुबह ही ब्लास्ट करना तर्क संगत नहीं है। सड़क बंद में काशापाट, कूहल, दारनधाटी, दरकाली के लोग भी फंसे रहे। जिन्होंने सड़क मार्ग से काफी दूर जाना था। लोगों कहना है कि ये एकमात्र सड़क मार्ग है। ऐसे में कोई आपात स्थिती होती है तो मुसीबतें और बढ़ जाएगी। लोगों ने मांग की कि नियमों और सही मापदंडा़े के साथ ही इस सड़क मार्ग पर ब्लास्टिंग की जाए ताकि लोगों को परेशानी न उठानी पड़े।

 

 

You might also like