लंगर लगाने वाले श्रद्धालुओं को बताएं नियम

पुलिस अधीक्षक ने मेला अधिकारियों को दिए निर्देश,सभी अधिकारी-कर्मचारी मेले को सफल बनाने के लिए करें सहयोग

बिलासपुर -श्रीनयनादेवी मंदिर में श्रावण अष्टमी नवरात्र मेले के लिए अभी से ही समस्त अधिकारी व कर्मचारी तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दें, ताकि मां के दर्शनों के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को कठिनाइयों का सामना न करना पड़े। श्रद्धालुओं को अत्याधिक बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हों, ताकि आसानी से उन्हें मां  के दर्शन हो सकें। यह बात कार्यकारी उपायुक्त विनय धीमान ने श्रावण अष्टमी के मेलों के आयोजन के लिए अधिकारियों के साथ आयोजित समीक्षा बैठक में कही। उन्होंने कहा कि मेले को सफल बनाने के लिए आवश्यक है कि जिला प्रशासन के साथ-साथ मंदिर अधिकारी तथा ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी, न्यासी तथा स्वयंसेवी संस्थाएं पूर्ण तत्परता, सहयोग और श्रद्धाभाव से अपने दायित्वों का निर्वहन करें। उन्होंने बताया कि उतरी भारत के प्रसिद्ध शक्तिपीठ श्रीनयनादेवी जी में आगामी पहली से दस अगस्त तक आयोजित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पुलिस मेला अधिकारी होंगे । उन्होंने समस्त अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे मेला आरंभ होने से दो-तीन दिन पूर्व अपने मेला स्थल पर जाकर निरीक्षण करना सुनिश्चित बनाएं, ताकि मेले के दौरान उन्हें विभिन्न परिस्थितियों की जानकारी रहे। उन्होंने मंदिर अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि मेले के दौरान लंगर लगाने के इच्छुक श्रद्धालु के साथ आवश्यक बैठक करके मेले के दौरान लागू किए जाने वाले नियमों की जानकारी उपलब्ध करवाएं और उन्हें स्वच्छता, गुणवता युक्त खाद्य पदार्थ, निर्धारित स्थल पर भोजन परोसने तथा  स्वास्थ्य प्रमाण इत्यादि के विषय में कड़ाई से अनुपालना के संदर्भ में अवगत करवाएं तथा उन्हें यह निर्देश दें कि लंगर लगाने वाले और कार सेवकों के चरित्र प्रमाण पत्र संबंधित थानों से लाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं की आस्थाओं को ध्यान में रखते हुए कन्या पूजन के लिए विशेष स्थान चयनित किए जाएंगे। जहां श्रद्धालु सुविधानुसार कन्या पूजन कर सकेंगे। उन्होंने सेक्टर अधिकारियों को निर्देश दिए कि संवेदनशील सेक्टरों में भिखारियों का प्रवेश निषेध बनाया जाए। उन्होंने मंदिर अधिकारी को निर्देश दिए कि मेला स्थल पर पर्याप्त सीसीटीवी कैमरे स्थापित किए जाएं, ताकि प्रत्येक गतिविधि के उपर गहनता से नजर रखी जा सके। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान सफाई व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए अतिरिक्त अस्थायी शौचालय स्थापित किए जाएंगे तथा सफाई व्यवस्था को सुनिश्चित बनाने के लिए अतिरिक्त सफाई कर्मी भी नियुक्त किए जाएंगे। उन्होंने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग, लोक निर्माण विभाग तथा विद्युत बोर्ड को निर्देश दिए कि अपने-अपने विभाग से संबंधित आवश्यक सेवाओं के संदर्भ में संतोषजनक सुरक्षा प्रमाण-पत्र देना सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने खाद्य आपूर्ति विभाग को निर्देश दिए कि वे मेले के दौरान लगने वाले स्टालों में रेट लिस्ट लगवाना तथा लंगर में वितरित की जाने वाली खाद्य सामग्री का नियमित रूप निरीक्षण करना सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने स्वास्थ्य तथा आयुर्वेद विभाग को निर्देश दिए कि निर्धारित स्वास्थ्य कक्षों में आवशक दवाइयों के भंडारण की उपलब्धता सुनिश्चित करें, ताकि श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी कठिनाई न हो। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुख्ता प्रबंध किए जाएंगे तथा नागरिक सुरक्षा व यातायात सुचारू व सुनिश्चित करने के लिए पुलिस, होमगार्ड के अतिरिक्त सेवा दल के स्वयं सेवियों को सभी सेक्टरों में अपनी सेवाएं देने के लिए तैनात किया जाएगा।

 

You might also like