लोकसभा में राहुल बनाम राजनाथ

नई दिल्ली – आम चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके राहुल गांधी ने गुरुवार को लोकसभा में शून्यकाल के दौरान किसानों की समस्याओं का मुद्दा उठाया। उन्होंने मोदी सरकार पर किसानों के साथ भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि अमीरों के लाखों करोड़ों के कर्ज माफ हो रहे हैं, लेकिन किसानों के लिए कुछ नहीं किया जा रहा है। जवाब में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने किसानों की दयनीय स्थिति के लिए कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों को जिम्मेदार ठहराया।

अमीरों का लाखों करोड़ का कर्ज माफ, किसान बदहाल

शून्य काल में किसानों के मुद्दे को उठाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र केरल के वायनाड में मंगलवार को कर्ज में डूबे एक किसान ने खुदकुशी कर ली। उन्होंने कहा कि वायनाड में बैंकों से कर्ज लेने वाले 8000 किसानों को नोटिस भेजा गया है और उनकी संपत्तियां जब्त की जा रही हैं। राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि पिछले 5 सालों में बीजेपी सरकार ने अमीरों के 5.5 लाख करोड़ रुपए के कर्ज को माफ कर दिया, लेकिन किसानों के लिए कुछ नहीं किया। राहुल गांधी ने कहा कि सरकार को किसानों को लेकर किए गए अपने वादों को पूरा करना चाहिए।

किसानों की दुर्गति के लिए कांग्रेस जिम्मेदार

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राहुल के सवाल का जवाब दिया। उन्होंने किसानों की समस्याओं के लिए कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों को जिम्मेदार ठहराया, जिसके बाद कांग्रेस सदस्य शोर करने लगे। राजनाथ ने हुए कहा कि किसानों की ऐसी स्थिति इन्हीं पांच सालों में नहीं हुई है, 70 सालों तक इन लोगों (कांग्रेस) ने सरकार चलाई है और किसानों की दयनीय स्थिति के लिए ये जिम्मेदार हैं। कांग्रेस राज में किसानों ने ज्यादा खुदकुशी की। सरकार ने पांच साल में जितना मिनिमम सपॉर्ट प्राइस बढ़ाया है, उतना किसी सरकार ने नहीं बढ़ाया।…किसानों की आय दोगुनी करने की कोशिश की जा रही है।

 

You might also like