विद्युत कनेक्शन लेना अब बेहद आसान

तीन प्रमाणपत्र ही काफी, रोशनी योजना में चाहिए महज एक पू्रफ

शिमला-उपभोक्ताओं को अब आसानी से बिजली का कनेक्शन मिल सकेगा। स्थायी रूप से जब तक उपभोक्ता के घर में कनेक्शन नहीं लगता है, तब तक उसे अस्थायी कनेक्शन दिया जाएगा। इसके लिए अब उसे तीन प्रमाण पत्र देने होंगे और आसानी से बिजली मीटर लग जाएगा। उधर, रोशनी योजना में मात्र एक प्रमाण पत्र की ही जरूरत होगी, जो कि गरीब परिवारों के लिए है। प्रदेश में कुल 21 लाख से अधिक बिजली उपभोक्ता हैं और हर घर में बिजली पहुंचाने के लिए बिजली बोर्ड कृतसंकल्प है। हालांकि प्रदेश को सौ फीसदी इलैक्ट्रिफाइड माना जाता है, लेकिन नए बनने वाले घरों को भी बिजली के कनेक्शन से जोड़ने की बड़ी मुहिम यहां पर चल रही है। ऐसे उपभोक्ता को बोर्ड को केवल ए एंड ए फार्म, अपनी पहचान का प्रमाण पत्र, परिसर के स्वामित्व या अधिकार का प्रमाण पत्र ही देना होगा, इससे आसानी से अस्थायी कनैक्शन प्राप्त हो जाएगा।

यदि कोई कंपनी कनेक्शन के लिए आवेदन करती है, तो उस दिशा में प्राधिकृत पत्र आवश्यक रहेगा। दूसरी ओर बिजली बोर्ड लिमिटेड द्वारा जनता से मुख्यमंत्री रोशनी योजना का लाभ उठाने का आग्रह किया गया है। राज्य सरकार की इस महत्त्वाकांक्षी योजना में गरीब परिवारों को विद्युत कनेक्शन प्राप्त करने में आसानी होगी तथा इससे ऐसे परिवारों को वित्तीय राहत मिलेगी। शर्तों में परिवार की सभी स्रोतों से प्राप्त वार्षिक आय 35 हजार से अधिक नहीं होनी चाहिए या घर का विद्युत लोड दो किलोवाट से कम होना चाहिए। परिवार का चयन बीपीएल परिवारों की सूची में होना चाहिए या परिवार अंत्योदय अन्न योजना के अंतर्गत आना चाहिए । परिवार का चयन प्राथमिकता परिवार की सूची में होना चाहिए। परिवार का चयन प्राथमिकता परिवार की सूची में होना चाहिए।

You might also like