श्रीखंड कैलाश यात्रा शुरू, 200 श्रद्धालु रवाना

पूजा-अर्चना के साथ हुआ आगाज़, सिंहगाड़ में मेडिकल चैकअप के बाद दर्शन को निकला जत्था

 निरमंड —उत्तरी भारत की सबसे कठिन श्रीखंड कैलाश यात्रा सोमवार को विधिवत पूजा-अर्चना के साथ शुरू हो गई। यात्रा का विधिवत शुभारंभ विधायक किशोरीलाल सागर ने बेस कैंप सिंहगाड़ से पहले दिन 200 श्रद्वालुओं के पहले जत्थे को चिकित्सीय जांच के बाद हरी झंडी दिखाकर रवाना कर किया। विधायक ने इस मौके पर क्षेत्र के लोगों को इस धार्मिक यात्रा की बधाई दी। विधायक किशोरीलाल सागर ने कहा कि सरकार ने इस यात्रा को श्रीखंड यात्रा ट्रस्ट के अधीन लाकर इसे  प्रशासन के बेहतर प्रबंध और देखरेख में शुरू किया है। आनी में धार्मिक स्थलों की कोई कमी नहीं है। इन स्थलों को धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिए इसका प्रारूप मुख्यमंत्री के समक्ष रखा गया है। विधायक ने कहा कि श्रीखंड यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं और भक्तों के लिए सरकार द्वारा प्रशासन के माध्यम से बेहतर सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। विधायक ने  कहा कि श्रीखंड कैलाश यात्रा के रास्ते में आने वाले पड़ाव सिंहगाड़ बराठीनाला, थाचडु, कालीघाटी, भीमतलाई, कुनशा, भीमडवारी, पार्वतीबाग, नैन सरोवर, भीमवही सहित श्रीखंड महोदव दर्शन करने का पूरा विवरण भी श्रद्धालुओं को स्मारिका के माध्यम से दिया जा रहा है। इस अवसर पर तहसीलदार नीरजा शर्मा, नायब तहसीलदार निथर प्रदीप, एलआर ठाकुर, अशोक ठाकुर, पप्पी बिष्ट, योमा ठाकुर, निशा ठाकुर, संदेव ठाकुर, चवित्र ठाकुर, सोहन बंसल, संतोष बंसल, भाग चंद कायथ, टीकम राम, ओम प्रकाश, कुमत राम, जयपाल, पूर्ण ठाकुर, यशपाल, रमेश जोशी, अमर सिंह, सेवा राम, गोवर्द्धन ठाकुर तथा श्रीखंड सेवा मंडल के अध्यक्ष गोविंद प्रसाद शर्मा व गुरदयाल उपस्थित रहे।

बर्फबारी में भी जोश कम नहीं

श्रीखंड यात्रा को लेकर इस बार भारी बर्फबारी के बावजूद श्रद्धालुओं में भारी उत्साह दिखाई दे रहा है।

यहां हर इंतजाम

श्रीखंड यात्रा ट्रस्ट के उपाध्यक्ष एवं एसडीएम चेत सिंह ने बताया कि प्रशासन ने श्रीखंड महादेव यात्रा के लिए सिंहगाड़ में मेडिकल चैकअप, पंजीकरण, सहायता, सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए गए हैं। बेस कैंप सिंहगाड़ में सभी यात्रियों को पंजीकरण करना अनिवार्य किया गया है। श्रीखंड महादेव यात्रा में हर पड़ाव पर चिकित्सकों की टीम, रेस्क्यू टीम, हिमाचल पुलिस जचान, होमगार्ड सहित स्थानीय सेवामंडल संगठन सेवा में कार्यरत हैं।

You might also like