श्रीखंड यात्रा से हटी रोक, पंजीकरण शुरू

आनी – जिला प्रशासन ने दुर्गम एवं रोमांचकारी श्रीखंड यात्रा पर लगी अस्थायी रोक गुरुवार को हटा दी और श्रद्धालुओं का पंजीकरण आरंभ कर दिया गया है। गुरुवार को खबर लिखे जाने तक यात्रा के बेस कैंप सिंहगाड में आठ से अधिक श्रद्धालुओं का पंजीकरण हो चुका था, जिन्हें चिकित्सा जांच के उपरांत आगे की यात्रा पर भेज दिया गया है। श्रीखंड यात्रा में  मौसम का बिगड़ैल मिजाज श्रद्धालुओं के लिए खासी बाधा उत्पन्न कर रहा है, मगर महादेव के दर्शन के लिए भक्तों के भारी उत्साह व जुनून के आगे खराब मौसम बौना ही साबित हो रहा है। प्रशासनिक तौर पर 15 जुलाई से शुरू हुई इस यात्रा पर अब तक तीन हजार से अधिक श्रद्धालु श्रीखंड दर्शन को निकले हैं, जबकि कई भक्त इससे पूर्व भी यात्रा कर चुके हैं, जिससे आंकड़ा पांच हजार तक पहुंच गया है। यात्रा में श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसके लिए प्रशासन द्वारा मार्ग में जगह-जगह तैनात किए गए अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश दिए जा रहे हैं। बता दें कि बुधवार को पार्वती बाग के पास पत्थर गिरने के कारण चार यात्री जख्मी हो गए थे। इस कारण यात्रा पर अस्थायी रूप से रोक लगा दी गई थी, परंतु हालात सामान्य होने के बाद यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का पंजीकरण शुरू हो गया है। श्रीखंड यात्रा ट्रस्ट के उपाध्यक्ष एवं एसडीएम आनी चेतसिंह ने बताया कि श्रीखंड यात्रा पर जाने वाले सभी यात्रियों को फिलहाल पार्वती बाग तक ही जाने की अनुमति दी जा रही है। इससे आगे का रास्ता सही न होने और पहाड़ी से लगातार पत्थर गिर रहे हैं, जिससे ग्लेशियर टूटने का भी खतरा है। ऐसे में एहतियात के तौर पर भक्तों को पार्वतीबाग से आगे नहीं जाने दिया जा रहा है। जो श्रद्धालु अभी तक पार्वतीबाग पहुंचे हैं, उनमें अधिकतर मौसम के बिगड़े मिजाज को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से वापस लौट आए हैं। एसडीएम चेत सिंह ने बताया कि पार्वतीबाग से मार्ग की रेकी करने को टीम भेजी गई है। रिपोर्ट आने के बाद ही आगामी निर्देश जारी किए जाएंगे। वहीं यात्रा के सेक्टर अधिकारी नायब तहसीलदार प्रदीप कुमार ने बताया कि मौसम हालांकि पूरी तरह से खराब है, मगर भक्तों का उत्साह कम नहीं हो रहा है। ऐसे में प्रशासन द्वारा सिंहगाड में श्रद्धालुओं का पंजीकरण व मेडिकल जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि बुधवार को पार्वतीबाग के पास कांगड़ा का राजीव नामक श्रद्धालु बर्फ में फिसलने से चोटिल हो गया था। उसे रेस्क्यू टीम द्वारा बचा लिया गया है और प्राथमिक उपचार के बाद उसे निरमंड अस्पताल भेज दिया गया है। बुधवार को ही पार्वतीबाग के समीप पुणे के जिस सुभाष पाटिल नामक भक्त की दम घुटने से मौत हुई थी, उसके शव को शुक्रवार को निरमंड अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा दिया जाएगा।

You might also like