श्रीगुरु नानकदेव जी के जीवन पर प्रदर्शनी

श्रीआनंदपुर साहिब के विरासत-ए-खालसा में नौजवानों के लिए चित्र प्रदर्शनी

श्रीआनंदपुर साहिब –नेशनल इंस्टीच्यूट ऑफ पंजाब स्टडीज भाई वीर सिंह साहित्य सदन नई दिल्ली की ओर से पंजाब सरकार की ओर से विरासत-ए-खालसा में श्रीगुरु नानक देव जी के जीवन पर आधारित खोज प्रदर्शनी लगाकर नौजवान पीढ़ी को 42 ट्रांसलाइटों से रबाब से नगाड़ा तक जानकारी देना सराहनीय है। इससे गुरु साहेब की ओर से अपने जीवन के दौरान  दी शिक्षाए और दिखाई रोशनी से हमारी आज की पीढ़ी नई दिशा मिल रही है। यह बात पंजाब विधानसभा के स्पीकर राणा केपी सिंह ने विरासत-ए-खालसा के प्रदर्शनी हाल में संस्था की ओर से लगाई खोज प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद गणमान्य को संबोधित करते हुए कही। इस मौके  लोकसभा हलका श्रीआनंदपुर साहिब से सांसद मनीष तिवारी  और सेंट्रल यूनिवर्सिटी के चांसलर डा. एसएस जौहल भी उपस्थित थे।  इससे पहले उन्होंने श्रीगुरु नानक देव जी के जीवन और फ्लसफे पर आधारित खोज प्रदर्शनी को गहनता से देखा और भाई वीर सिंह  साहित्य सदन की ओर से लगाई गई  प्रदर्शनी के  प्रबंधक  सरबजीत सिंह से इस बारे में जानकारी हासिल की। इस मौके पर  रिटायर्ड इंजी. मनमोहन सिंह, एसडीएम कनु गर्ग, डीएसपी दविंद्र सिंह, विरासत-ए-खालसा के कार्यकारी इंजी. भूपेंद्र सिंह चाना, नगर काउंसिल के अध्यक्ष हरजीत सिंह जीता, पवन दीवान, रमेश चंद्र, कमल देव जोशी, प्रेम सिंह, हरबंस मेहंदील, कमलदीप सैणी, संजीव राणा, पालीशाह कोड़ा, गौरव, गुरअवतार सिंह, साइकिल एसोसिएशन के अध्यक्ष रणजीत सिंह, एसजीटीवी खालसा कालेज के प्रिंसीपल डा. जसवीर सिंह, गुरमिंदर सिंह भुल्लर, राणाराम सिंह व अमरपाल सिंह बैंस उपस्थित थे।

 

You might also like