सुंदरनगर में लाखों डकार शातिर फरार

सर्वे ऑफ  इंडिया का फर्जी कार्यालय खोल कर कई युवाओं को लगाया चूना

सुंदरनगर  – मंडी जिला के सुंदरनगर में सर्वे ऑफ इंडिया का कार्यालय खोल बेरोजगारों से लाखों की ठगी कर शातिर फरार हो गया है। शातिर ठग ने एक प्रतिष्ठित डा. मकान मालिक, होटल मालिक, टैक्सी आपरेटर, टेलर मास्टर, ड्राइवर को भी मोटा चूना लगा दिया। छविराम निवासी बाल्ट जिला मंडी द्वारा पुलिस में शिकायत दी गई है कि मार्च 2019 में वरुण सिंह पुत्र भारत सिंह पता नामालूम से उसकी मुलाकात सुंदरनगर में हुई, उसने बताया कि वह भारत सरकार के सर्वे ऑफ इंडिया में कार्यरत है और धनोटू में सर्वे ऑफ इंडिया का दफ्तर खुला है। इसमें कुछ पद खाली है, जिन्हें जल्द ही भरा जाना है और आप अपना बायोडाटा, शिक्षा से संबंधित जरूरी कागजात लेकर कार्यालय में व मेल से भिजवा दे। उसके उपरांत ठग वरुण ने साक्षात्कार नहीं लिया तथा 50 हजार जमा करवाने को कहा, जिस पर उसने नकद पैसे जमा करवा दिए। पीडि़त ने बताया कि दिनेश कुमार, सन्नी, नीतू कुमारी, कुसुम लता, छवि राम, कमलेश, गौतम राम, शिव कुमार सहित अनेक लोग दफ्तर में तीन माह से कार्यरत थे, लेकिन वरुण सिंह ने किसी को भी कोई सैलरी नही दी और उसने रोजगार के नाम पर सभी से मोटे पैसे ऐंठ रखे हैं। वहीं सभी को झांसा दे रहा था कि पैसे के लिए उसने हैड ऑफिस से प्रोसेस चलाया हुआ है। पीडि़त का कहना है कि सभी के अकाउंट नंबर, पैन कार्ड, आधार कार्ड, शिक्षा व अन्य जरूरी कागज ले लिए हैं। जिसका वह दुरुपयोग कर सकता है। यहीं नहीं,  शातिर ठग ने बिना पैसे के ही फर्जी कार्यालय का फर्नीचर, रिहायशी मकान व वाहन का जुगाड़ कर रखा था। उसने इन सभी के मकान व वाहन मालिकों से ही लाखों का खर्चा करवाया हुआ था और उन्हें किराया व फर्नीचर के बिल शीघ्र ही हैड ऑफिस से क्लियर होने का झांसा दे रहा था। एक नई टैक्सी भी किराए पर लगाने के लिए उसके मालिक से कमीशन के तौर पर 50 हजार लिए और उसे टैक्सी का किराया भी नहीं दिया।  जब पुलिस उसके कार्यालय में पुलिस पूछताछ के लिए पहुंची थी, तो उसने दस्तावेज कुछ दिन में  उपलब्ध करवाने को कहा था। लेकिन  9 जुलाई 2019 से वह दफ्तर नही आया और उसके सभी मोबाईल नंबर भी बंद हो गए। पुलिस ने  बीएसएल कॉलोनी में धारा 419, 420 आईपीसी के तहत मुकद्मा दर्ज किया है।  प्रभारी बीएसएल थाना कमल कांत ने खबर की पुष्टि की है।

You might also like