स्वारघाट-नयनादेवी में जियो का इंटरनेट स्लो

स्वारघाट -स्वारघाट और नयना देवी क्षेत्रों में रिलायंस जियो की बैंड बज चुकी है। आलम यह है कि जियो उपभोक्ताओं को खराब वॉयस क्लाविटी, कॉल ड्राप, कमजोर कनेक्टिविटी और इंटरनेट डेटा स्पीड स्लो होने की समस्याएं झेलनी पड़ रही है। बारिश में तो सिग्नल बहुत वीक हो जाता है। इसके साथ ही डेटा भी बहुत स्लो हो रहा है। जियो कस्टमर केयर में बार-बार हो रही शिकायतों के बावजूद स्पीड और नेटवर्क में कोई सुधार नहीं हो रहा है। उपरोक्त समस्याओं से तंग आकर जियो उपभोक्ता अपने जियो सिम कार्ड अन्य सर्विस प्रोवाइडर में पोर्ट करवा रहे हैं। अधिकतर जियो उपभोक्ता एयरटेल में अपने कनेक्शन पोर्ट करवा रहे हैं। स्वारघाट व नयनादेवी क्षेत्र के उपभोक्ता राज कुमार, विनय, मुनीष कुमार, केशव शर्मा, सुनील कुमार, चमन लाल, संजय कुमार, विजयपाल, दीप कुमार, रोहित, सुरेंद्र, भाग सिंह, प्रेम सिंह, विक्की, जयपाल, लाल चंद, पवन कुमार, दीपक, शशिपाल, मीना कुमारी, सुदेश कुमारी व सुनीता देवी आदि ने बताया कि स्वारघाट व नयनादेवी क्षेत्र के गांवों में जियो कंपनी का नेटवर्क बहुत कमजोर हो गया है और इंटरनेट स्पीड भी स्लो हो गई है। उपरोक्त लोगों ने बताया कि इंटरनेट रुक-रुक कर चल रहा है। पहले की तरह स्मूथली नहीं चल पा रहा है। पहले जहां जियो सिम से कमरे या आफिस में बैठकर कर बात कर सकते थे और इंटरनेट चला सकते थे, लेकिन अब कमरे में न नेटवर्क आ रहा है न इंटरनेट चल पा रहा है। इंटरनेट के लिए उपभोक्ताओं को या तो कमरे के बाहर या फिर घरों की छतों पर जाना पड़ रहा है, लेकिन फिर भी पहले की तरह स्पीड नहीं मिल पा रही है। उपरोक्त लोगों ने बताया कि जियो अगर  शीघ्र ही उपरोक्त समस्याओं का हल नहीं करता तो आने वाले दिनों में जियो को एक भी उपभोक्ता ढूंढने से भी नहीं मिलेगा। उपरोक्त लोगों ने बताया कि जियो के मुकाबले एयरटेल और आइडिया का नेटवर्क व डेटा स्पीड ज्यादा बेहतर है। इसलिए जियो उपभोक्ता इन सर्विस प्रोवाइडर में अपने कनेक्शन पोर्ट करवा रहे हैं। स्वारघाट और नयनादेवी क्षेत्र के कई उपभोक्ताओं ने जियो कस्टमर केयर पर लिखित और मौखिक रूप से अवगत करवाया है, लेकिन कई महीनों से उनकी इस समस्या का हल नहीं हो पाया है। वहीं, जियो की तरफ  से उनकी समस्या का हल नहीं हो सका है। उपभोक्ताओं का कहना है कि जियो की तरफ से कहा जा रहा है कि जियो सर्विसेज को अपग्रेड किया जा रहा है, जिसके चलते यह दिक्कत आ रही है।

 

 

You might also like