हफ्ते का खास दिन : काजोल देवगन जन्मदिवस 5 अगस्त, 1974

काजोल देवगन मुखर्जी एक भारतीय बालीवुड अभिनेत्री हैं। काजोल नब्बे की दशक की बेहतरीन अभिनेत्रीयों में से एक है। फिल्म जगत में वह काजोल नाम से जानी जाती हैं। उन्होंने बालीवुड की कई बेहतरीन फिल्मों में अभिनय किया है।  काजोल अब तक के अपने फिल्मी सफर में  छह फिल्मफेयर अवार्ड अपने नाम कर चुकीं हैं।  

पृष्ठभूमि

काजोल का जन्म 5 अगस्त, 1974 को महाराष्ट्र के मुंबई में हुआ।  वह एक फिल्मी परिवार से ताल्लुकात रखती हैं।  काजोल दिवंगत निर्माता-निर्देशक सोमू मुखर्जी वेटरन एक्ट्रेस तनुजा की बेटी हैं। काजोल की एक बहन हैं। तनीषा मुखेर्जी जोकि एक अभिनेत्री हैं। काजोल दिवंगत एक्ट्रेस नूतन की भांजी भी हैं। इतना ही नहीं काजोल के नाना-नानी भी भारतीय सिनेमा का हिस्सा रहे हैं।  काजोल का पूरा पैतृक परिवार परिवार भी बालीवुड का एक अभिन्न हिस्सा हैं।  उनके पिता के भाई जॉय मुखर्जी-देब मुखर्जी भारतीय फिल्म निर्माता थे, तो वंही उनके दादाजी एक फिल्मकार थे।  उनके चचेरे भाई-बहनों में रानी मुखर्जी चोपड़ा, शर्बानी मुखर्जी और मोहनीश बहल शामिल हैं, जो कि फिल्म जगत में सक्रीय हैं।  उनके चचेरे भाई अयान मुखर्जी बालीवुड के प्रसिद्ध निर्देशक हैं।

शादी

काजोल की शादी अभिनेता अजय देवगन से 24 फरवरी, 1999 हुई हैं। जिस समय काजोल की शादी हुई थी उस समय वह बालीवुड की लीडिंग एक्ट्रेस में शुमार थीं। आलोचकों ने काजोल के शादी के फैसले को गलत ठहराया था, आलोचकों का कहना था कि शादी के बाद काजोल का करियर पूरी तरह खत्म हो जाएगा पर ऐसा नहीं हुआ। काजोल ने फिल्मों में काम करना जारी रखा।  शादी के बाद उनकी फिल्म कभी खुशी कभी गम ब्लॉकबस्टर हिट हुई।  काजोल के दो बच्चे हैं। न्यासा देवगन, युग देवगन।

करियर

काजोल ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत महज 16 साल की उम्र में ही कर दी थी।  उनकी पहली बालीवुड डेब्यू फिल्म बेखुदी थी।  हालंकि फिल्म तो कुछ खास नहीं चली थीं, लेकिन आलोचकों को उनका  अभिनय बेहद पसंद आया।  इसी के चलते उनके पास फिल्मों की लाइन लग गई।  उसके बाद 1993 में काजोल अब्बास मस्तान की फिल्म बाजीगर में नजर आई।  इस फिल्म में उनके साथ शाहरुख खान और शिल्पा शेट्टी भी थे।  काजोल की यह कॉक्स आफिस पर हिट साबित हुई।  और फिल्म में लोगों को शाहरुख काजोल की जोड़ी बेहद फबी। साल 1995 में काजोल की दो फिल्में करण-अर्जुन और दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे बैक टू बैक हिट हुई। फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया’ ले जाएंगे के लिए काजोल को बेस्ट एक्ट्रेस फिल्म फेयर अवार्ड से सम्मानित किया गया।

काजोल ने अपने बालीवुड करियर में कई बेहतरीन फिल्में की उसी में शामिल है गुप्त। फिल्म गुप्त में काजोल एक नकारत्मक किरदार में नजर आई थीं।  और उनके किरदार को लोगों ने बेहद पसंद किया। इतना भी नहीं उन्हें इस फिल्म के फिल्म फेयर अवार्ड बेस्ट इन नेगेटिव रोल से भी सम्मानित किया गया।   साल 2001 में फिल्म कभी खुशी कभी गम के बाद काजोल ने फिल्मी दुनिया से एक लंबा ब्रेक लिया। इस दौरान उन्होंने एक बेटी को जन्म दिया।  साल 2006 में एक बार फिर काजोल ने फिल्म फना से अपनी धमाकेदार वापसी की।  फिल्म फना में काजोल एक अंधी लड़की की भूमिका में नजर आई थी जिसे कश्मीरी आतंकवादी से प्यार हो गया था। इस फिल्म में उनके अपोजिट आमिर खान नजर आए थे। फिल्म सुपरहिट हुई और साथ ही एक और फिल्म फेयर आवर्ड फॉर बेस्ट एक्ट्रेस काजोल की झोली में आ गिरा। 

रोचक तथ्य

काजोल मुखर्जी खानदान की चौथी पीढ़ी हैं।  काजोल वेटरन एक्ट्रेस रत्ना बाई की परपोती हैं।  कपूर फैमिली के बाद बालीवुड में मुखर्जी परिवार का भी काफी योगदान है।

You might also like