हलाऊ स्कूल के चार कमरे धड़ाम

नेरवा—सावन मास की पहली बारिश ने क्षेत्र में कहर बरपाना शुरू कर दिया है। सावन की पूर्व संध्या पर सोमवार की रात हुई झमाझम से सीनियर सैकेंडरी स्कूल हलाऊ के भवन की दीवारें भरभरा कर गिर गई हैं। भवन की दीवारें गिरने से स्कूल में पढ़ रहे छात्रों की भविष्य की पढ़ाई पर प्रश्न चिन्ह लग गया है। इस स्कूल भवन की छत कुछ दिन पूर्व आये तूफान से पहले ही उखड़ चुकी है। अभी उखड़ी छत को भी नहीं लगाया गया था कि अब इसके चार कमरों की दीवारें गिर गई है जबकि दो अन्य कमरों की दीवारों में भी दरारें आ गई है। छत उड़ने और दीवारें गिरने के बाद यह भवन छात्रों के बैठने के लिए पूरी तरह असुरक्षित हो चुका है। इस वजह से स्कूल में पढ़ने वाले तकरीबन एक सौ छात्रों को बाकी बचे तीन कमरों में ठूंसकर पढ़ाया जा रहा है। हालांकि इन दिनों स्कूली खेल प्रतियोगिताएं चली हुई है व स्कूल के अधिकांश छात्र इन प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए अन्य स्कूलों में गए हुए हैं। समस्या तो यह है कि जब यह छात्र प्रतियोगिताओं से भाग लेकर वापस स्कूल आएंगे तो सभी छात्रों की पढ़ाई इन तीन कमरों में कैसे हो पाएगी। इस स्थिति से स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों के अभिभावक छात्रों के भविष्य को लेकर चिंतित हैं। उनका कहना है कि स्कूल भवन की बरसात शुरू होते ही यह हालत हो गई है। अभी तो पूरी बरसात पड़ी हुई है। यदि स्कूल भवन की सुरक्षा के लिए शीघ्र ही उपाय नहीं किये गए तो यह पूरी तरह गिर जाएगा। उधर अभिभावकों में सवाल यह खड़ा हो गया है कि स्कूल में कमरों के अभाव में इन छात्रों की भविष्य की पढ़ाई कैसे हो पाएगी। 

You might also like