131 स्वास्थ्य संस्थानों में मिलेंगी बेहतर सुविधाएं

धर्मशाला—आयुष्मान भारत के तहत जिला कांगड़ा के 131 स्वास्थ्य संस्थानांे को हैल्थ एंड वेलनेस संेटर में तबदील किया गया है। योजना के तहत तबदील किए गए इन संेटर मंे बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए भी प्रक्रियाएं आरंभ कर दी है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग द्वारा इन संेटर में स्टाफ की उपलब्धता के साथ अन्य व्यवस्थाआंे को पूरा किया जा रहा है। साथ ही हैल्थ एंड वेलनेस संेटर में तैनात स्टाफ को बाकायदा प्रशिक्षण भी प्रदान करने को लेकर बैच बैठाए जाएंगे, जिससे कि कंेद्र की इस योजना को बेहतर तरीके से चलाया जा सके।  आयुष्मान भारत योजना के तहत स्थापित किए जाने वाले इन हैल्थ एंड वेलनेस संेटर में मरीजांे को संक्रामक रोगांे के प्रबंधन, सामान्य बाहरी मरीजांे के उपचार की सुविधा, गैर संक्रामक रोगांे की जांच की व्यवस्था, महिलाआंे की गर्भावस्था और बच्चे की देखभाल करने, नवजात और शिशु स्वास्थ्य के उपचार करने, बचपन और किशोर स्वास्थ्य उपचार, परिवार नियोजन और प्रजनन स्वास्थ्य सबंधी मामलांे की सुविधा प्रदान की जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रांे तक बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं सुदृढ़ करने तथा लोगांे को घर-द्वार पर ही बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए इस योजना को आरंभ किया गया है। योजना के तहत जिला कांगड़ा में 131 स्वास्थ्य संस्थानांे को हैल्थ एंड वेलनेस संेटर चिन्हित किए हैं।  इसके लिए बाकायदा डा. राजंेद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा तथा जोनल अस्पताल धर्मशाला में भी इसके लिए क्लासंे लगाई जाएंगी, जिसमें स्टाफ को प्राथमिक उपचार संबंधी सभी प्रशिक्षण प्रदान किए जाएंगे। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कांगड़ा डा. गुरदर्शन गुप्ता ने बताया कि जिला कांगड़ा मंे आयुष्मान भारत के तहत 131 स्वास्थ्य संस्थानांे को हैल्थ एडं वेलनेस संेटर चिन्हित किए गए हैं। इन संेटर में स्टाफ की तैनाती सहित अन्य व्यवस्थाएं की जा रही हैं।

You might also like