अंबोया-राजपुर में बढ़ा नशे का कारोबार

पांवटा साहिब -उपमंडल पांवटा साहिब के गिरिपार के आंजभौज क्षेत्र के अंबोया व राजपुर पंचायतों में नशेडि़यों ने अपने पांव पसार दिए हैं। पंचायतों के कई गांवों में नशे का कारोबार करने वाले कारोबारी दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। पुलिस प्रशासन द्वारा लगाम न लगाए जाने के कारण नशे के इन सौदागरों को किसी का भी खौफ नहीं है। चाहे नशे की लत से किसी की जान क्यों न चली जाए। जानकारी के मुताबिक पांवटा के ग्रामीण इलाकों को भी नशा और सट्टा माफिया ने अपनी गिरफ्त में लेना शुरू कर दिया है। गांव में नशा करने वालों व सट्टा खेलने वाले की तादाद में दिनोंदिन इजाफा हो रहा है। सूत्र बताते है कि गांव में कच्ची शराब का कारोबार व सड़क के किनारे भांग व अन्य नशा बेचने वालों की तादाद बढ़ रही है। गांवों में कच्ची शराब, कैप्सूल, भांग व सूलफा जैसे नशों का सरेआम व्यापार किया जा रहा है। नशे ने गांव को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है, जिससे युवा वर्ग इस दलदल में धंसता जा रहा है। वहीं, क्षेत्र के गांव की महिलाओं ने शराब व अन्य नशा बचने वालों के खिलाफ  हल्ला बोल दिया है। पंचायत प्रधान व पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा भी युवाओं को नशे से दूर रहने की हिदायत दी है। उन्होंने ग्रामीण स्तर पर नशे के कारोबार को बंद करने की चेतावनी भी दी है। लेकिन फिलहाल इस पर लगाम लगती नहीं दिख रही है। उधर, जब इस बारे में अंबोया पंचायत के प्रधान निशिकांत मेहता से बात की गई तो उन्होंने बताया कि गांव में कच्ची शराब निकालने वाले को शराब बंद करने के कड़े निर्देश दिए गए हैै। यदि कोई भी नहीं मानता तो उसे पुलिस के हवाले किया जाएगा व पंचायत से मिलने वाले सुविधाओं से भी वंचित किया जा सकता है। इसी प्रकार अन्य नशा बेचने वाले भी अपना कारोबार बंद कर दें वरना परिणाम अच्छे नहीं होंगे।

 

You might also like