अटल आदर्श स्कूलों की बदलेगी पालिसी

पांचवीं से मिलेगा दाखिला, देहरादून की नीति का अध्ययन कर लौटे शिक्षा अधिकारी, गर्ल्ज स्कूल में होंगी लेडीज़ प्रिंसीपल

शिमला – हिमाचल प्रदेश में गरीब बच्चों की सुविधा के लिए खुलने वाले अटल आदर्श स्कूलों की पालिसी में सरकार बदलाव करने जा रही है। बताया जा रहा है कि अटल आदर्श स्कूलों में छात्रों को पांचवीं कक्षा के बाद दाखिला देने के फैसले पर सरकार जल्द मुहर लगा सकती है। पहले अटल स्कूल में पहली कक्षा से छात्र व छात्राओं को दाखिला देने का प्लान था। वहीं अब बताया जा रहा है कि छात्र बड़ी कक्षा में अगर अटल स्कूल में प्रवेश करेगा, तो इससे सबसे ज्यादा फायदा यह होगा कि वह आसानी से अपने अभिभावकों से दूर रहकर पढ़ाई में फोकस कर पाएगा। दरअसल अटल आदर्श स्कूल बोर्डिंग स्कूल की तरह होंगे। यहां जब तक छात्र अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाएंगे, तब तक उन्हें यही पर रहना होगा। हिमाचल में प्रदेश सरकार ने पहली बार अटल आदर्श स्कूल के माध्यम से सरकारी शिक्षा को सुदृढ़ करने  की योजना बनाई है। बता दें कि प्रदेश सरकार को देहरादून के अटल आदर्श स्कूल की पालिसी बहुत भायी थी। सरकार ने प्रारंभिक शिक्षा विभाग को देहरादून के स्कूल में जाकर वहां पर किस आधार पर छात्रों को सुविधाएं दी जा रही हैं, पढ़ाई किस तरह से छात्रों को करवाई जा रही है, इस पर स्टडी कर रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए थे। शिक्षा विभाग की टीम ने देहरादून जाकर इस बारे में स्टडी कर ली है। वहीं देहरादून के अटल स्कूल में जो भी पालिसी अपनाई जा रही है, उसे प्रदेश में शुरू करने को लेकर सरकार से अनुमति मांगी है। अधिकारियों की मानें तो पांचवी कक्षा के बाद ही अटल स्कूल में छात्रों को दाखिला देने का निर्णय सहायक साबित होगा। देहरादून के अटल आदर्श स्कूल के मुताबिक हर साल 32 से 35 छात्रों का बैच बिठाया जाएगा। यानी कि पांचवीं के बाद जो भी छात्र इन स्कूलों में पढ़ना चाहते हैं, उनकी प्रवेश परीक्षा ली जाएगी। प्रवेश परीक्षा लेने के बाद जो छात्र मैरिट में होंगे, उन्हें दाखिला दिया जाएगा।

दस स्कूलों को मिली जमीन

खास बात यह है हर विधानसभा में खुलने वाले अटल आदर्श स्कूलों को लेकर शिक्षा विभाग ने जगह चयन कर दी है। इसमें सबसे पहले बिलासपुर के झंडूता, चंबा जिला के चुराह, कांगड़ा के जयसिंहपुर, कागड़ा के सुलाह, मंडी के नाचन, सिरमौर के शिलाई, ऊना के कुटलैहड़, मंडी के धर्मपुर, शिमला के चौपाल व मंडी के सरकाघाट क्षेत्र में इन स्कूलों के लिए जगह चयन कर दी है।

25 और 32 बीघा पर तैयार होंगे स्कूल

हिमाचल में यह अटल आदर्श स्कूल 25 व 32 बीघा जमीन पर तैयार होंगे। सरकार की ओर से जारी हुई गाइडलाइन के तहत प्रदेश के मैदानी क्षेत्रों में 32 बीघा व अपर ऐरिया में 25 बीघा पर इन स्कूलों का कैंपस तैयार होगा।

You might also like