अनुच्छेद 370 और धारा 118 की तुलना सही नहीं: जयराम

शिमला  –  हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि अनुच्छेद 370 संविधान का हिस्सा है जबकि धारा-118 राज्य कानून के तहत आती है ऐसे में इन दोनों में तुलना करना सही नहीं है। यहां मंत्रिमंडल की बैठक शुरू होने से पहले मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में श्री ठाकुर ने अनुच्छेद 370 की धारा 118 के साथ तुलना करने वालों को नसीहत देते कहा कि वे बिना सोचे समझें इस तरह की बातें न करें। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद-370 संविधान का हिस्सा है जबकि धारा 118 में राज्य की ओर से लागू की गई है जिसे हिमाचल की जमीनों की रक्षा के लिए बनाया गया था ताकि कोई बाहरी यहां कृषि योग्य जमीन न खरीद सके। उन्होंने लेकिन यह भी कहा कि यहां लगने वाली विद्युत परियोजनाओं और उद्योगों के लिए नियमानुसार जमीन दी जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार धारा-118 में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं करेगी और न ही इसे हटाया जाएगा। केवल धारा-118 के तहत अनुमति को सरल बनाने के लिये इसे ऑनलाइन करने जा रहा है ताकि लोगों का ज्यादा वक्त न लगे।उन्होंने स्पष्ट किया कि ऐसा नहीं है कि कोई बाहरी हिमाचल में जमीन नहीं खरीद सकता है। दरअसल, एक तय प्रकिया के तहत सभी हिमाचल में जमीन खरीद सकते हैं। घर बना सकते हैं और व्यापार कर सकते हैं। इस प्रक्रिया का पालन करते हुये कई बाहरी लोगों ने राज्य में जमीनें खरीदी हैं। 

 

You might also like