एक नजर

द्रविड़ का हितों के टकराव का मसला नहीं

मुंबई। प्रशासकों की समिति ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के क्रिकेट प्रमुख के रूप में राहुल द्रविड़ की नियुक्ति में ‘हितों के टकराव’ का कोई मसला नहीं है। सीओए के नए सदस्य लेफ्टिनेंट जनरल रवि थोडगे ने कहा कि गेंद अब बीसीसीआई के लोकपाल सह आचरण अधिकारी डी के जैन के पाले में है। थोडगे ने कहा, राहुल के मामले में हितों का टकराव नहीं है। उन्हें नोटिस मिला था और हमने उनकी नियुक्ति को मंजूरी दी थी। हमें हितों का टकराव नहीं दिखा, लेकिन अगर लोकपाल को लगता है तो हम उन्हें अपना पक्ष स्पष्ट करेंगे। उन्होंने कहा, उसके बाद वह इस पर गौर करेंगे।

रिकार्ड तोड़ने पर लारा ने गेल को दी बधाई

नई दिल्ली। दुनिया के महान बल्लेबाजों में शुमार रहे ब्रायन लारा ने अपने हमवतन क्रिस गेल को वेस्टइंडीज के लिए वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बनने पर बधाई दी है। गेल ने इस मामले में लारा को ही पीछे छोड़ा है। भारत के खिलाफ खेले गए दूसरे वनडे मैच में गेल ने यह रिकार्ड बनाया और लारा को पछाड़ा। लारा ने ट्वीट किया, वेस्टइंडीज के लिए वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बनने पर बधाई हो गेल। गेल ने इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप के दौरान कहा था कि भारत के खिलाफ खेली जाने वाली सीरीज में वह वनडे और टेस्ट मैच खेलना चाहते हैं और फिर क्रिकेट को अलविदा कह देंगे। चयनकर्ताओं ने गेल को वेस्टइंडीज की वनडे टीम में तो जगह दी है, लेकिन टेस्ट टीम में गेल को मौका नहीं मिला है।

सीनियर बैडमिंटन स्पर्धा में भारत को स्वर्ण-दो रजत

नई दिल्ली। भारत ने पोलैंड के कातोविस में आयोजित विश्व सीनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन करते हुए एक स्वर्ण और दो रजत पदक जीत लिए। विजय लैंसी मैसकारेनहास और अजीत हरि दास ने पुरुषों के 40 वर्ष से अधिक के युगल वर्ग में डेनमार्क के एस्बेन बी कैंपागार्ड और मोर्टन एलबी रासमुसेन को 19-21, 21-17, 21-19 से हराकर स्वर्ण पदक जीता। 55 वर्ष से अधिक के महिला एकल में मंजुषा सुधीर सहस्त्रबुद्धे ने शीर्ष वरीय हांगकांग की झाऊ जिन के खिलाफ अच्छी शुरुआत की, लेकिन उन्हें 37 मिनट में 21-14, 13-21, 13-21 से हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा। 50 वर्ष से अधिक के मिश्रित युगल में प्रभु नायक नायडू कोना और सुजैन वेंगलेट को टॉप सीड इंग्लैंड के राजीव बग्गा और एलिजाबेथ ऑस्टिन से पराजय का सामना करना पड़ा। भारतीय जोड़ी को रजत पदक मिला।

जर्मन कप में म्यूनिख ने हराए एनर्जी कोटबस

बर्लिन। रोबर्ट लेवानदोवस्की और क्लब के लिए पदार्पण कर रहे लुकास हर्नांडेज के गोल से बायर्न म्यूनिख ने यहां चौथे टीयर की टीम एनर्जी कोटबस को 3-1 से हराकर जर्मन कप फुटबाल टूर्नामेंट के दूसरे दौर में जगह बनाई। लेवानदोवस्की और हर्नांडेज के अलावा बायर्न के लिए किंगस्ले कोमान ने भी गोल किया। मेजबान टीम के लिए एकमात्र गोल बर्कन टेज ने पेनल्टी पर दागा। बायर्न को 1994 से इस टूर्नामेंट के पहले दौर में कभी हार का सामना नहीं करना पड़ा है।

You might also like