करतारपुर पर पाकिस्तान की नीयत ठीक नहीं

बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने दिया बयान

चंडीगढ़ -भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि राष्ट्रहित में पाकिस्तान के साथ करतारपुर गलियारा परियोजना पर फिलहाल आगे नहीं बढ़ना चाहिए और मौजूदा परिस्थितियों में सिख समुदाय अवश्य ही इस बात को समझेगा कि इसके पीछे पड़ोसी देश की नीयत ठीक नहीं है। एक कार्यक्रम के सिलसिले में शनिवार को यहां आए श्री स्वामी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वह मानते हैं कि करतारपुर  गलियारा सिख समुदाय की भावनाओं से जुड़ा है लेकिन सिखों ने देश की रक्षा के लिये बलिदान दिये हैं वे अवश्य ही इस बात को समझेंगे कि पाकिस्तान ने भारत में आतंकवाद को बढ़ावा देना बंद नहीं किया है और न ही उसने अपने यहां बैठे आतंकवादियों और राष्ट्रविरोधी तत्वों को भारत को सौंपा है। ऐसे में इस पड़ोसी देश के साथ फिलहाल कोई संबंध रखने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान करतारपुर गलियारा के बहाने दुनिया को दिखाना चाहता है कि वह भारत के साथ बातचीत शुरू करना चाहता है, लेकिन व्यक्तिगत रूप से उनकी राय है कि उसे यह मौका नहीं दिया जाना चाहिए और गलियारा परियोजना पर जहां तक काम हो चुका है राष्ट्रहित में उसे फिलहाल वहीं रोक दिया जाना चाहिए और जब हालात सही हों तभी इस पर आगे बढ़ा जाए। पाकिस्तान के पूर्व सेनाध्यक्ष असलम बेग के करतारपुर गलियारा के माध्यम से भारत में खालिस्तानी आंतकवाद को बढ़ावा देने सम्बंधी बयान पर प्रतिक्रिया ने भाजपा नेता ने कहा कि खालिस्तान कभी बनने वाला नहीं है और जो सिख इसकी बात करता है तो उसका दिमाग खाली है और खालिस्तान भी वहीं पर है। उन्होंने कहा कि सिखों के हिमायती रहे हैं। ऑपरेशन ब्लू स्टार और 1984 के नरसंहार जैसी घटनाओं में सिखों को न्याय दिलाने के लिये वह और पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर सिखों के साथ समर्थन में खड़े थे। उन्होंनें कहा कि सिख राष्ट्रवादी हैं। देश में आपातकाल के खिलाफ सिखों ने सबसे ज्यादा संघर्ष किया था।

You might also like