करियाड़ा नाग मंदिर में गूंजे मंत्र

सिद्धपीठ में देश की शांति के लिए पांच दिन चलेगा पाठ

गरली –उपमंडल देहरा के अंतर्गत गांव निचला करियाड़ा स्थित प्रसिद्ध प्राचीन ऐतिहासिक सिद्धपीठ नाग मंदिर परिसर में चलने वाला पांच दिवसीय श्रीकृष्णाजन्माष्मी मेला  19 अगस्त से शुरू हो चुका है। मंदिर परिसर में इलाके की खुशहाली व देश की उन्नति  अमन शांति हेतु लगातार पांच दिन तक चलने वाले इस मंत्र जाप के लिए जिला कांगड़ा स्थित पाईसा गांव के जाने-माने  विद्वान एवं अंतरराष्ट्रीय  ब्राह्मण संस्था के प्रदेशाध्यक्ष  भवानी शंकर, अंबाला व लुधियाना से बुलाए गए उच्च कोटी के पांच विद्वान लगातार मंत्रोच्चारण से जुटे हुए हैं। इस मौके पर पंडित आचार्य भवानी शंकर ने कहा कि देश की खुशहाली व इलाके की तरक्की के लिए चलने वाला यह सर्वसिद्धि पाठ 23 अगस्त को जन्माष्टमी वाले दिन पूर्ण आहुति से संपन्न होगा। मंदिर प्रबंधक कुलदीप सिंह गुलेरिया ने बताया कि नाग मंदिर में चलने वाले इस पांच दिवसीय जन्माष्टमी मेले की तैयारियां लगभग मुक्कमल हो चुकी है। यहां बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को ठहरने व खाने पीने के यहां मंदिर परिसर के पुख्ता इंतजाम किए गए है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के अंतिम दिन यानी जन्माष्टमी वाले दिन  23 अगस्त   को अंबाला के भक्त राजेंद्र राजू गुप्ता, सुभाष गुप्ता जट्ट ट्रांसपोर्ट, होशियारपुर लुधियाना के वरिष्ठ उद्योगपति सतीश जैन व जम्मू के बाबा जैन  ज्वालामुखी देहरा  करियाड़ा ऊना सहित अन्य इलाके श्रद्धालुओं द्वारा यहां मंदिर परिसर में  आने वाले ग्रामीणों की सुविधा हेतु फलों का फलहार, खीर, आलू- टिक्की-पकोड़े , गोल गप्पे व दूध की स्पेशल कुल्फी सहित अन्य कई तरह के चटपटे मसालेदार व्यजनों के स्टाल लगाए जाएंगे।

You might also like