कश्मीरः ईद पर सरकार का कल बड़ा इम्तिहान, घर-घर पहुंचा रहे जरूरी सामान

फाइल फोटोजम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद कल बकरीद के मौके पर सरकार का पहला बड़ा इम्तिहान है. हालांकि सरकार इसमें पास होने के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रही है. पूरे कश्मीर में शांतिपूर्वक त्योहार मनाने के लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है. जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने लोगों के लिए 300 स्पेशल टेलीफोन बूथ बनाए हैं, ताकि दिल्ली और अलीगढ़ समेत देश के विभिन्न हिस्सों में रहने वाले जम्मू-कश्मीर के स्टूडेंट अपने परिजनों से बातचीत कर सकें और बकरीद मना सकें.जम्मू-कश्मीर में आम लोगों को खाने-पीने और रोजमर्रा के सामानों की कोई दिक्कत न हो, इसके लिए खास व्यवस्था की गई है. इसके लिए जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने रोजमर्रा के जरूरी समानों का पर्याप्त भंडारण किया है. 65 दिन के लिए गेहूं का स्टॉक, 55 दिन के लिए चावल, 17 दिन के लिए मटन, एक महीने के लिए चिकन, 35 दिन के लिए कैरोसीन ऑयल, एक महीने के लिए एलपीजी, 28 दिन के लिए हाईस्पीड डीजल और पेट्रोल का स्टॉक किया गया है.कश्मीर में 3,697 में से 3,557 राशन स्टोर को चालू कर दिया गया है. यहां से आम लोग राशन की खरीददारी कर सकते हैं. मोबाइल वैन के जरिए सब्जियों, एलपीजी, चिकन और अंडे लोगों के दरवाजे तक पहुंचाए जा रहे हैं. बकरीद पर कुर्बानी के लिए 2 लाख 50 हजार भेड़-बकरियां उपलब्ध कराई गई हैं. साथ ही छुट्टी के दिन बैंक खुले रखने और एटीएम चालू रखने का फैसला लिया गया है. इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के कर्मचारियों का वेतन जारी किया गया जा रहा है.वहीं, जम्मू-कश्मीर किसी भी तरह की कोई घटना न हो, इसके लिए सुरक्षा के भी कड़े  इंतजाम  किए गए हैं. आपको बता दें कि मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया है. अब जम्मू-कश्मीर एक केंद्रशासित प्रदेश बन गया है. इस अनुच्छेद के हटाने के बाद किसी भी तरह की अप्रिय घटना को रोकने के लिए जम्मू-कश्मीर में भारी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है. अब जम्मू-कश्मीर में  हालात लगातार सामान्य हो रहे हैं.

You might also like