कश्मीर के विकास का रास्ता

– डा. राजन मल्होत्रा, पालमपुर

जम्मू-कश्मीर के लिए पांच अगस्त, 2019 का दिन ऐसा होगा, जब जम्मू-कश्मीर के लोगों ने राहत की सांस ली होगी। जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने के लिए अनुच्छेद 370 का प्रावधान किया गया था, अब यह अनुच्छेद हटा दिया गया है, तो कश्मीरी पंडित वहां जगह ले सकेंगे। यह सब स्वागत योग्य है तथा उग्रवाद जो महबूबा मुफ्ती, फारूख अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला के कारण वहां फैला था, वह समाप्त हो जाएगा। इस अनुच्छेद को समाप्त करके जम्मू-कश्मीर के विकास का रास्ता खोला गया है, जिसके लिए भारत सरकार बधाई की पात्र है।   

You might also like