कृषि छात्रों पर संकट

-विक्रम ठाकुर, कांगड़ा

मैं, विक्रम ठाकुर, बीएससी (एग्रीकल्चर) स्टुडैंट केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री का ध्यान केंद्रीय कृषि अनुसंधान परिषद के हालिया निर्णय की ओर दिलाना चाहता हूं। परिषद के नए आदेश के अनुसार जिन प्राइवेट विश्वविद्यालयों के पास उसकी मान्यता नहीं है, वहां से डिग्री धारी छात्र केंद्रीय सेवाओं के लिए आयोजित कंपीटीटिव एग्जाम के लिए पात्र नहीं होंगे। मेरी और मेरे जैसे कई अन्य छात्रों की समस्या यह है कि जिस प्राइवेट यूनिवर्सिटी से हम ग्रेजुएशन की डिग्री कर रहे हैं, उसे परिषद की मान्यता प्राप्त नहीं है। अब स्थिति यह है कि हम केवल प्रदेश स्तर के कंपीटीटिव एग्जाम में ही बैठ सकते हैं। सरकार से आग्रह है कि वह इस समस्या को जल्द सुलझाए।

 

You might also like