कैथू में खाली करवाए तीन मकान

शिमला में अनसेफ भवनों में रह रहे लोगों पर चला प्रशासन का डंडा, एसडीएम नीरज चांदला ने मौके पर पहुंच कर की कार्रवाई

शिमला -राजधानी शिमला में अनसेफ भवनों में रह रहे लोगों पर अब प्रशासन का डंडा चल पड़ा। हालांकि यहां के कई क्षेत्रों में 84 से अधिक असुरक्षित भवन हैं, जिसमें लोग रह रहे हैं, लेकिन जिला प्रशासन और नगर निगम ने अब कार्रवाई शुरू कर दी है। एसडीएम नीरज चांदला की टीम ने मंगलवार को कैथू क्षेत्र का दौरा किया और यहां असुरक्षित भवनों को खाली करवा दिया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक कैथू में ऐसे तीन असुरक्षित भवनों को खाली करवाया गया। बताया गया कि सोमवार रात को कैथू के ऐसे भवनो में रह रहे लोगों को सुरक्षित एवं बचाओ के लिए यहां के लोगों ने एसडीएम नीरज चांदला को अवगत करवाया। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नगर निगम के दायरे में 84 असुरक्षित भवन हैं, जहां पर लोग जान जोखिम पर डाल कर रह रहे हैं। सूत्रांे से मिली जानकारी के मुताबिक नगर निगम शिमला ने ऐसे भवन मालिकों को नोटिस थमा कर भवन खाली करने को भी कहा है, लेकिन भवन मालिक घरों को खाली नहीं कर रहे है। ऐसी स्थिति को देखते हुए एसडीएम नीरज चांदला ने मंगलवार को मौके पर पहुंच कर सख्त कार्रवाई की। उल्लेखनीय है कि गत रविवार को आरटीओ के समीप असुरक्षित भवन पर मलबा गिरने से एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई थी। गौर इस कि इस दौरान एसडीएम नीरज चांदला ने अनसेफ पेड़ो को काटने के भी आदेश दिए। वहीं इसके साथ कंस्ट्रक्शन के हो रहे कार्य को भी बंद करने के आदेश शिमला उपमंडलाधिकारी ने दिए।

You might also like