गगल एयरपोर्ट का होगा विस्तार

पवन काजल केसवाल पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का जवाब

शिमला – गगल एयरपोर्ट का विस्तारीकरण करने के लिए हिमाचल सरकार ने प्रस्ताव तैयार कर दिया है। कांगड़ा से कांग्रेस विधायक पवन काजल द्वारा पूछे गए एक सवाल के लिखित जवाब में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने यह जानकारी दी। मुख्यमंत्री के जवाब में साफ कहा है कि प्रदेश सरकार द्वारा गगल हवाई अड्डे का विस्तारीकरण करवाया जाना प्रस्तावित है। गगल हवाई अड्डे के रन-वे की लंबाई 1372 मीटर से लगभग 2000 मीटर करने की योजना है। एयरपोर्ट का विस्तार होने से क्षेत्र की चार पंचायतें प्रभावित होंगी, जिनमें शाहपुर तहसील के तहत रछयालु व कुठमा और कांगड़ा तहसील के तहत सनौरा व गगल पंचायतें प्रभावित होंगी। बताया गया कि हवाई अड्डे का विस्तारीकरण करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया तथा पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन मंत्रालय भारत सरकार से मंजूरी का इंतजार रहेगा। बताया गया कि पिछले साल पठानकोट एयरबेस पर विस्फोट के बाद सुरक्षा की दृष्टि से एयरपोर्ट का विस्तार करने का मामला ठंडा पड़ गया था। ऐसे में अब प्रदेश सरकार द्वारा तैयार किए गए प्रस्ताव पर केंद्र सरकार से मंजूरी का इंतजार रहेगा। गगल एयरपोर्ट के विस्तार को लेकर गांव सनौरा, रछियालु, बैंटलू और कुठमा के उन परिवारों का सुखचैन छिन गया है, जो गगल एयरपोर्ट के निर्माण से लेकर अब तक दो बार विस्थापन का दर्द झेल चुके हैं। बताया गया कि वर्ष 2000 में भी एयरपोर्ट के विस्तार के चलते ये गांव विस्थापित हुए थे। हालांकि इसी साल मई महीने में हिमाचल सरकार ने एयरपोर्ट के विस्तारीकरण को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी थी, लेकिन अभी तक केंद्र से हरी झंडी नहीं मिल पाई। यहां तक कि मई महीने में सरकार ने डीसी कांगड़ा को दस्तावेज पूरा कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए भी दिए थे, ताकि जमीन अधिग्रहण के बाद काम शुरू किया जा सके। बताया जा रहा है कि गगल बाजार की ओर एयरपोर्ट के रन-वे का विस्तार हो सकता है। उल्लेखनीय है कि वर्तमान में 80 सीटर विमान करीब 55 सवारियों को लेकर ही गगल एयरपोर्ट से उड़ान भरता है। इससे यात्रियों को ज्यादा किराया वहन करना पड़ता है। रन-वे की लंबाई बढ़ने से किराए में कमी तो होगी ही बड़े विमान भी उतारे जा सकेंगे।

You might also like