गृहस्थ आज रखेंगे श्री कृष्ण जन्मोत्सव के लिए उपवास

नाहन – श्रीकृष्ण जन्मोत्सव के लिए श्रद्धालु आज उपवास रखकर कान्हा का जन्मोत्सव मनाएंगे। गृहस्थ लोगों के लिए 23 अगस्त को अष्टमी तिथि का महत्त्व आने से यह दिन उपवास के लिए जानकारों के अनुसार उपयुक्त बताया गया है, जबकि साधु सन्यासी इस उपवास और उत्सव को 24 अगस्त को मनाएंगे। लिहाजा प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी श्री कृष्ण जन्मोत्सव दो दिन मनाया जाएगा। आचार्य शिव प्रसाद शास्त्री ने बताया कि श्री कृष्ण भगवान विष्णु के आठवें अवतार हैं, जिनका जन्म भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मध्यरात्रि में रोहिणी नक्षत्र में हुआ है। लिहाजा इस उत्सव को अष्टमी और रोहिणी नक्षत्र का महत्त्व देते हुए दो दिन मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि इस मर्तबा वृष राशि चंद्रमा उच्च का होने के साथ इस दिन का महत्त्व बढ़ा रहा है। लिहाजा कान्हा का जन्मोत्सव मनाने के लिए देश के अन्य भागों की तरह जिला सिरमौर में भी तैयारियां कर ली गई हैं। मंदिर कमेटियों द्वारा मंदिरों में सजावट और कान्हा के पालने टांगने के अलावा झांडियों और शोभा यात्रा के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं, जबकि बाजार फलों से लद गए हैं। जिला मुख्यालय में शुक्रवार को कान्हा जन्मोत्सव के लिए नाहन के ऐतिहासिक भगवान जगन्नाथ मंदिर से कान्हा के छोटे रथ की शोभा यात्रा बाजार से होती हुई वापिस मंदिर पहुंचेगी, जबकि रात्रि जागरण और भजन कीर्तन के लिए चंडीगढ़ से कलाकारों को आमंत्रित किया गया है। जिला सिरमौर में प्रमुख स्थलों में भी श्री कृष्ण जन्माष्टमी को लेकर शोभा यात्रा और पालना टांगने की रस्म की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। भक्त उपवास और चढ़ावे के लिए बड़े पैमाने पर फलों की खरीददारी में जुटे हैं। जन्मोत्सव के लिए लड्डू गोपाल और शृंगार के लिए बाजारों में साजो सामान को उपलब्ध करवाया गया है।

You might also like