छात्र ने दो बच्चें की मां के साथ रचाई शादी

अंब में पेश आया वाकया, मां-बाप के समझाने पर भी नहीं माना युवक

अंब –किसी युवक-युवती को अपने परिजनों की सहमति के बिना भाग कर शादी करने की घटनाएं तो अकसर सुनी जाती हैं, लेकिन कोई छात्र भाग कर दो बच्चों की माता के साथ शादी कर ले ऐसा शायद कम ही सुना होगा। उपमंडल अंब के एक गांव में कुछ इसी प्रकार की घटना चर्चा का विषय बनी हुई है। नौ वर्ष पूर्व उपमंडल के एक लड़के ने पंजाब की तहसील तलवाड़ा की एक लड़की से शादी की थी। शादी के बाद उसने दो बेटों ने जन्म दिया। एक बेटा आठ वर्ष का तो दूसरा तीन वर्ष का है। विवाहिता का पति एक उद्योग में काम करता है। उसकी ज्यादातर ड्यूटी रात को रहती है। इस कारण घर की किसी भी गतिविधि से अनभिज्ञ रहता था। इसी बीच पड़ोसी लड़के का महिला के पास आना-जाना चला रहता था। लड़के की आयु को देखते हुए उसके माता-पिता भी उस पर किसी प्रकार का कोई शक नहीं करते थे। महिला के सास-ससुर अलग रहते थे। बताया जा रहा है कि विवाहिता व छात्र का चार-पांच वर्ष से प्रेम प्रसंग शुरू हो गया था। दोनों ने इसी बीच हमेशा के लिए एक साथ रहने की ठान ली, लेकिन विवाहिता के लिए पति रोड़ा बन रहा था। पति की चगुल से हमेशा के लिए छूटने के लिए उसने उसके साथ लड़ाई-झगड़ा करना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे नौबत तलाक तक पहुंचा गई। तलाक होते ही छात्र व महिला ने शादी कर ली है। इसी बीच जब माता-पिता को अपने बेटे की करतूत का पता चला तो उन्होंने उसे समझाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन लड़के ने उनकी एक नहीं मानी। अब लड़के के माता-पिता पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। उनके दो बेटे हैं। एक बेटा विदेश में रहता है। अपने बेटे को माता-पिता छोड़ना नहीं चाहते है, लेकिन जिस व्यक्ति के साथ तलाक हुआ है उसका घर भी उनके घर के नजदीक ही है। वहीं, दो बच्चों की माता को अपनी कैसे बहू मान लें, उनके लिए समस्या सिरदर्द बन गई है। अंत में माता-पिता ने बेटे को बेदखल करने का निर्णय लिया है। अब बेटा मुंह बोली पत्नी व उसके बच्चों के साथ भूमिगत हो गया है। एसएचओ गौरव भारद्वाज ने बताया कि उनके पास लड़के के परिजनों की शिकायत आई है। दोनों को समझाने की कोशिश की गई, लेकिन नहीं माने। दोनों ने अपनी सहमति से शादी कर ली है।

You might also like