जिला में आज बंद रहेंगे निजी व सरकारी शिक्षण संस्थान

दो दिन से जारी बारिश से सोलन में जनजीवन प्रभावित; नदी-नाले उफान पर, भू-स्खलन ने रोकी रफ्तार

सोलन –प्रदेश में दो दिनों से जारी बारिश का असर सोलन जिला में भी देखने को मिला है। शनिवार से जारी बारिश से जिला में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। इस बारिश से जहां जिला के पहाड़ी क्षेत्रों में भू-स्खलन की घटनाएं बढ़ी हैं, वहीं इसका सबसे ज्यादा कहर जिला के मैदानी इलाकों बद्दी व नालागढ़ में देखने को मिल रहा है। इन क्षेत्रों में नदी-नाले उफान पर हैं, जिससे बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। जिलाभर में भारी बारिश के चलते जिला प्रशासन ने सोलन के सभी शिक्षण संस्थानों में सोमवार को अवकाश घोषित कर दिया है। इस बाबत जिला दंडाधिकारी व उपायुक्त सोलन केसी चमन ने आदेश जारी कर दिए हैं। इन आदेशों में कहा गया है कि पिछले दो दिनों से जारी बारिश के चलते जिला में भू-स्खलन के कारण कई मार्ग अवरूद्ध हो गए हैं। वहीं, मौसम विभाग द्वारा सोमवार को भी भारी बारिश की चेतावनी दी गई। इसके चलते जिला में खतरा गहरा सकता है। इन सभी को देखते हुए सोमवार को जिला में सभी सरकारी व निजी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। इनमें कालेज, आईटीआई, यूनिवर्सिटी, पोलीटेक्नीक सहित आंगनबाड़ी केंद्र भी शामिल हैं। उधर, पहाड़ी क्षेत्रों में जारी भू-स्खलन से करीब एक दर्जन मार्ग अवरूद्ध हो गए, जिस कारण इन मार्गों पर चलने वाली सरकारी व निजी बसों के कई रूट फेल हो गए और लोगों को अपने गंतव्यों तक पहुंचने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

सन्नी साइड में घर पर मंडराया खतरा

सोलन शहर के सन्नी साइड में भी भारी बारिश के चलते मलबा आने से एक घर पर खतरा मंडरा गया है। इसको देखते हुए प्रशासन ने घर को खाली करवा लिया है और तिरपाल के सहारे घर को बचाने की कोशिश की जा रही है। इसके अलावा प्रशासन ने आसपास के इमारतों में रह रहे लोगों को एहतियात बरतने की अपील की है। इसके अलावा चंडी-बढलग मार्ग पर भी एक भवन पर खतरा मंडरा गया है।

सरयांज में मलबे में दबी दो गउएं

दाड़लाघाट। क्षेत्र में लगातार हुई भारी बारिश के चलते ग्राम पंचायत सरयांज के गरुड़नाग (मालिवाली) में शोभ राम पुत्र हरिराम की गोशाला ढह गई। गोशाला में बंधी दो गउआंे की मलबे में दबने से मौत हो गई जबकि अन्य दो को ग्रामीणों भारी मशक्कत के बाद सुरक्षित बाहर निकल लिया। स्थानीय लोगों में संत राम भारद्वाज व हरीश कौशल ने जानकारी देते हुए बताया कि लगातार हुई भारी बारिश के चलते गोशाला के ऊपर बने खेत में पानी जमा होता चला गया जिसके चलते खेत का डंगा ढह गया और खेत का सारा मलबा नीचे की तरफ बनी गोशाला में जा घुसा। उन्होंने प्रशासन से प्रभावित किसान की मदद करने की गुहार लगाई है।

You might also like