टीम में रहाणे-रोहित, असमंजस में विराट

एंटीगा – भारतीय टीम प्रबंधन वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के लिए संयोजन तैयार करने को लेकर उहापोह की स्थिति में हैं, क्योंकि पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरने की दशा में रोहित शर्मा और अंजिक्य रहाणे में से किसका चयन करना है यह अभी तय नहीं हुआ है। भारत अगर चार गेंदबाजों के साथ उतरने की रणनीति पर चलता है, तो रोहित और रहाणे दोनों को अंतिम एकादश में जगह मिल सकती है। अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर इन दोनों में से किसी एक को बाहर बैठना होगा। वर्तमान फार्म को देखते हुए रहाणे का चयन मुश्किल लग रहा है। भारत साढ़े सात महीने के बाद लंबी अवधि के प्रारूप में खेलने के लिए उतरेगा। अंतिम एकादश को लेकर सबसे बड़ा सवाल यही है कि विराट कोहली और रवि शास्त्री गुरुवार से शुरू होने वाले पहले टेस्ट मैच के लिए अतिरिक्त छठे बल्लेबाज या अतिरिक्त गेंदबाज के साथ उतरते हैं या नहीं। अगर भारतीय टीम प्रबंधन परंपरागत रणनीति से चलता है तो केएल राहुल और मयंक अग्रवाल को पारी का आगाज करना चाहिए। मगर यह नहीं भूलना चाहिए कि राहुल को आस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम दो टेस्ट मैचों के लिए टीम में नहीं चुना गया था और हनुमा विहारी ने पारी की शुरुआत की थी। पुजारा और कोहली तीसरे और चौथे नंबर पर दो मजबूत स्तंभ हैं, लेकिन समस्या उसके बाद शुरू होती है। विकेटकीपर बल्लेबाज पंत छठे नंबर पर उतर सकते हैं। हार्दिक पांड्या की अनुपस्थिति में रविंद्र जडेजा टीम को संतुलन देने के लिए सातवें नंबर पर आ सकते हैं। ऐसे में कोहली को रोहित और रहाणे में से किसी एक का ही चयन करना होगा। कप्तान कोहली हमेशा पांच गेंदबाजों को उतारने के पक्षधर रहे हैं, क्योंकि टेस्ट मैच जीतने के लिए 20 विकेट लेने जरूरी होते हैं। अगर पिच तेज गेंदबाजों के लिए अनुकूल हो तो उमेश को भी टीम में लिया जा सकता है।

You might also like