तीस हजार ने लगाई आस्था की डुबकी

जन्माष्टमी पर मणिमहेश में शुक्रवार सुबह 8ः09 मिनट से शनिवार सुबह 8ः39 तक चला पवित्र न्हौण का दौर

भरमौर -मणिमहेश में जन्माष्टमी पर पवित्र न्हौण में दो दिन में करीब तीस हजार श्रद्धालुओं ने डल झील में आस्था की डुबकी लगाई है। शुक्रवार सुबह 8ः09 मिनट पर पवित्र स्नान आरंभ हुआ था और शनिवार सुबह 8ः39 मिनट तक डल झील में डुबकी लगाने का क्रम जारी रहा। लिहाजा मणिमहेश यात्रा का आगाज होने के साथ अब अगर मौसम ठीक रहता है, तो राधाअष्टमी पर होने वाले बड़े न्हौण में यहां भारी भीड़ उमड़ने की उम्मीद भी है। हालांकि अमरनाथ यात्रा के बीच में ही रोक लगने के बाद इस मर्तबा मणिमहेश यात्रा में रिकॉर्ड भीड़ जुटने का अनुमान लगाया जा रहा है, लेकिन जन्माष्टमी के स्नान से ठीक पहले हुई मूसलाधार बारिश और बाद में सोशल मीडिया पर यात्रा के बाबत फैलाई जा रही भ्रांतियों का असर शुरुआत में ही देखने को मिला है। जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह यात्रा का छोटा न्हौण आरंभ हुआ था और शाम तक करीब बीस हजार यात्रियों के डल झील में स्नान करने का अनुमान लगाया गया। शुक्रवार देर शाम से शनिवार तड़के तक भारी संख्या में यात्रियों ने डल झील की ओर रुख किया। लिहाजा अनुमान के मुताबिक शनिवार को दस हजार से अधिक यात्री झील पर पहुंचे हैं और पवित्र स्नान किया है। इस तरह से जन्माष्टमी के न्हौण में अनुमानित तीस हजार यात्रियों ने डल झील में आस्था की डुबकी लगाई है। उधर, मणिमहेश न्यास के अध्यक्ष एवं एडीएम भरमौर पीपी सिंह का कहना है कि यात्रा का अधिकारिक तौर पर आगाज हो गया है। प्रशासन ने यात्रियों की सुविधा के लिए यात्रा के विभिन्न पड़ावों पर व्यवस्थाएं की हैं। फिर भी अगर कोई कमी प्रशासन के ध्यान में लाई जाती है, तो उसे दूर करने का प्रयास किया जाएगा। पवित्र मणिमहेश यात्रा में यात्रियों के आने का क्रम जारी है, जिसके चलते भोले की नगरी भरमौर भी शिवमय हो गई है। भरमौर पहुंचने पर यात्री सीधा प्रसिद्ध भरमाणी माता मंदिर की ओर रुख कर रहे हैं और यहां पवित्र कुंड में स्नान और पूजा-अर्चना के बाद आगामी यात्रा के लिए निकल रहे हैं।

यात्रा में श्रद्धालु की हार्ट अटैक से मौत

भरमौर। मणिमहेश यात्रा पर आए एक श्रद्धालु की डल झील में हार्ट अटैक से मौत हो गई है। शव को रविवार के दिन हड़सर लाया जाएगा। इस तरह का यह पहला मामला है। एडीएम भरमौर पीपी सिंह ने बताया कि दिल्ली का हरविंद्रर (57) मणिमहेश यात्रा पर आया था। शनिवार को डल झील पर उसकी तबीयत अचानक बिगड़ गई। मौके पर मौजूद लोगों ने तुरंत उसे चिक्तिसा शिविर में पहुंचाया जहां उसकी मृत घोषित कर दिया। सिविल अस्पताल भरमौर में तमाम औपचारिकताओं के बाद शव परिजनों को सौंपा जाएगा।

You might also like