देहरा सेंट्रल यूनिवर्सिटी कैंपस में धरना

सुविधाएं न मिलने पर सीयू के छात्र-छात्राओं ने कालेज प्रशासन और सरकार के खिलाफ जमकर लगाए नारे

गरली, देहरा गोपीपुर –अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् इकाई देहरा के आह्वान पर सेंट्रल यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राओं ने कालेज प्रशासन एवं सरकार के खिलाफ धरना-प्रदर्शन करते हुए खूब नारेबाजी की। इस धरना -प्रदर्शन में अपनी मुख्य मांगे विश्वविद्यालय परिसर में सुविधाओं के नाम पर अभी तक ठेंगा ही दिखा है। इन छात्रों का कहना है कि यहां पढ़ने वाले स्टूडेंट कहने को तो सेंट्रल यूनिवर्सिटी में पढ़ते है, लेकिन यहां सुविधाएं बिलकुल नहीं है। चुनावों से पहले देहरा में सीयू के भवनों का शिलान्यास हो चुका है, लेकिन एक भी ईंट इस के अपने भवन पर नहीं लगी है और यहां किराए के भवन में भी सबसे बड़ी समस्या यहां जलपान की कैंटीन का न होना है। लाइब्रेरी स्टाफ  की कमी, सफाई कर्मचारी शिक्षकों एवं गैर शिक्षकों  के रिक्त पदों को लेकर वह हताश है। बार-बार मांग के बाद ही छात्रों की मांगों की अनदेखी  रही है। अब उन्हें धरना-प्रदर्शन के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।  विश्वविद्यालय में समाजशास्त्र इतिहास एवं राजनीति शास्त्र में अनेक शिक्षकों के पद खाली है। विभाग संगठन मंत्री अरुण वर्मा ने बताया कि यह विश्वविद्यालय इतने वर्ष के बावजूद अपना स्थायी परिसर बनाने में असमर्थ रहा है। विश्वविद्यालय में मूलभूत सुविधाओं की भारी कमी है। इस धरना-प्रदर्शन में विश्वविद्यालय के सभी छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। इस धरना प्रदर्शन में विशाल आदित्य, सीताराम, सुनील, अरुण कुमार, निरमा, नेहा, हेमंत, बलवीर, ठकराल, साक्षी, नंदा शबनम, ममता व पवन इत्यादि सुमित सभी छात्र-छात्राओं भी मुख्य रूप से उपस्थित थे। इन सभी मांगों को लेकर एक ज्ञापन देहरा सेंट्रल यूनिवर्सिटी के वरिष्ठ अधिकारी को देते हुए कहा गया है कि समय रहते एक सितंबर तक कार्रवाई न हुई, तो सभी छात्र दो सितंबर से विश्वविद्यालय में कक्षाओं का बहिष्कार कर हड़ताल पर चले जाएंगे, जिसकी पूरी जिम्मेदारी सेंट्रल यूनिवर्सिटी के उच्च अधिकारियों और प्रदेश सरकार की होगी।

 

You might also like