परिक्रमा पर निकले गुग्गा

हारियानों के संग करेंगे शहर की परिक्रमा, सात दिन बाद लौटेंगे

कुल्लू –कुल्लू रघुनाथ गंगेडी सुल्तानपुर में रक्षाबंधन के दिन गुग्गा देवता का छत्र-ढाल बीते गुरुवार को सजाया गया। शुक्रवार को समस्त हारियानों के साथ गुग्गा देवता ने कुल्लू शहर की परिक्रमा शुरू की। कारदार मनोज शर्मा ने बताया कि हर वर्ष रक्षाबंधन के दिन गुग्गा देवता गुग्गा देवता का छत्र-ढाल सजाया जाता है। देवता के दर्शन के लिए श्रद्धालु  दूर-दराज के क्षेत्रों से मंदिर में हाजरी भरते हैं। रक्षाबंधन के अगले दिन गुग्गा देवता समस्त हारियानों के साथ शहर की परिक्रमा पर निकलते हैं। वहीं, पुजारी राजेश शर्मा ने बताया कि सात दिन पूर्ण होने के बाद अष्टमी को भेखली माता के समक्ष शीश नवाते हैं तथा परिक्रमा पूर्ण होने के बाद अपने देवालय की ओर लौटते हैं। अष्टमी के दिन मंदिर परिसर में छत्र-ढाल सजाया जाता है। राजेश शर्मा ने कहा कि नवमी के दिन गुग्गा नवमी मनाई जाती है। नवमी के दिन गुग्गा देवता मंदिर रघुनाथ गंगेडी सुल्तानपुर में श्रद्धालु दूर-दराज के क्षेत्रों से आकर गुग्गा देवता का आशीेर्वाद लेते हैं। पुजारी राजेश शर्मा ने बताया कि देवता सभी लोगों की मनोकामना पूर्ण करते हैं। इस अवसर पर कारदार मनोज शर्मा, मोती राम, धीरज, राजेश गोपाल व समस्त हरियान मौजूद रहे।

 

You might also like