परीक्षा रद्द करना अनुचित

– डा. राजन मल्होत्रा, पालमपुर

हिमाचल प्रदेश में ब्यास सत्संग (परौर) तथा अन्य स्थानों पर हुई पुलिस की लिखित परीक्षा को मात्र छह छात्रों के कारनामे के कारण रद कर देना बिल्कुल भी उचित नहीं है। उल्लेखनीय है कि इस परीक्षा में 35 हजार छात्र बैठे थे तथा बाहरी प्रदेशों के छह छात्र अन्य छात्रों की जगह परीक्षा देते पकड़े गए थे। इस तरह कुछ छात्रों के कारण 35 हजार छात्रों का भविष्य दांव पर लगाना ठीक नहीं है।

You might also like