पहाड़ की सियासत में अमिट छाप छोड़ गए जेटली

2017 के विधानसभा चुनाव में पूर्व वित्त मंत्री के हाथों लांच हुआ था भाजपा का घोषणा पत्र

शिमला –पहाड़ की सियासत में पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली कई यादें छोड़ गए हैं। उनका हिमाचल प्रदेश के साथ गहरा नाता था। जब-जब भी प्रदेश में विधानसभा चुनाव हुए अरुण जेटली ने भाजपा नेताओं को एकता का पाठ पढ़ाने में कोई कमी नहीं छोड़ी। मोदी सरकार के पिछले कार्यकाल में केंद्र में वित्त मंत्री रहते वह 2017 के विधानसभा चुनाव में शिमला आए थे और होटल पीटरहॉफ में उन्होंने चुनावी घोषणा पत्र भी लांच किया था। उस साल चुनाव में जेटली ने स्टार प्रचार की भूमिका भी निभाई। यही नहीं, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल परिवार से भी इनका गहरा रिश्ता था। पूर्व वित्त मंत्री के निधन से हिमाचल की राजनीति में शोक की लहर दौड़ गई है। राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल, शांता कुमार, केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, प्रदेश महामंत्री संगठन पवन राणा, सांसद  किशन कपूर, सुरेश कश्यप, रामस्वरूप शर्मा, सभी मंत्रिगण, विधायकगण, प्रदेश उपाध्यक्ष एवं मुख्य सचेतक नरेंद्र बरागटा, प्रवीण शर्मा, गणेश दत्त, राजीव भारद्धाज, रूपा शर्मा, सुखराम चौधरी, विजय अग्निहोत्री, प्रदेश महामंत्री कृपाल परमार, चंद्रमोहन ठाकुर, राम सिंह, प्रदेश मुख्य प्रवक्ता रणधीर शर्मा, पूर्व सांसद बिमला कश्यप, प्रवक्ता अजय राणा, रितु सेठी, बलदेव तोमर, शशि दत्त शर्मा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष धनेश्वरी ठाकुर, युवा मोर्चा के अध्यक्ष विशाल चौहान, किसान मोर्चा के अध्यक्ष बलदेव भंडारी, अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष मुलखराज प्रेमी, अनुसूचित जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष सूरत नेगी, अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष मोहम्मद राजबली, ओबीसी मोर्चा के अध्यक्ष उत्तम चौधरी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता ने पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली के आकस्मिक निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने अपने शोक संदेश में कहा कि  जेटली ने एक प्रखर वक्ता, एक आदर्श कार्यकर्ता, लोकप्रिय जनप्रतिनिधि, एक कर्मठ मंत्री और जाने माने कानूनविद के रूप में भारतीय राजनीति में अपनी अमिट छाप छोड़ी है। उनके आकस्मिक निधन से पूरी पार्टी सदमे में है।

त्रिदेव सम्मेलन में पढ़ाया था एकजुटता का पाठ

लोकसभा चुनाव से पहले प्रदेश में हुए भाजपा के त्रिदेव सम्मेलन में भी अरुण जेटली ने कार्यकर्ताओं को एकजुटता का पाठ पढ़ाया था। जिला कांगड़ा के चंबी में आयोजित उस सम्मेलन में उन्होंने 4/4 का नारा दिया था। यानी हिमाचल की चारों लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करनी है। वर्तमान में वही हुआ। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में जेटली ने मंडी में विशान जनसभा को भी संबोधित किया था। वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने कांगड़ा में चुनावी रैली को संबोधित किया था।

आज दिल्ली जाएंगे मुख्यमंत्री

शिमला— मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर रविवार को दिल्ली दौरे पर रहेंगे। वह सुबह साढ़े बजे शिमला से दिल्ली के लिए निकलेंगे। प्राप्त जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री रविवार को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के अंतिम संस्कार में शरीक होंगे और उसके बाद शाम छह बजे शिमला लौट आएंगे।

You might also like