पांवटा सिविल अस्पताल में 100 बेड

कैबिनेट बैठक में मिली सैद्धांतिक मंजूरी, 73 पद भी किए गए स्वीकृत

पांवटा साहिब -पांवटा साहिब के सिविल अस्पताल को 150 बिस्तरों का अस्पताल करने की घोषणा को प्रदेश सरकार ने अमलीजामा पहना दिया है। बीते गुरुवार को हुई प्रदेश मंत्रिमंडल की कैबिनेट बैठक में पांवटा सिविल अस्पताल को 100 से 150 बिस्तरों का करने हेतु सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई है। साथ ही विभिन्न श्रेणी के 73 पदों को सृजित कर इन्हें भरने की भी कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। इस निर्णय से अब पांवटा साहिब में स्वास्थ्य सेवाएं ओर सुदृढ़ हो जाएंगी। इस निर्णय का पांवटा भाजपा मंडल ने स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार का आभार प्रकट किया है। गौर हो कि गत विधानसभा के सत्र मंे पांवटा साहिब के विधायक सुखराम चौधरी ने यह मामला विधानसभा में उठाया था, जिसके बाद कैबिनेट में यह निर्णय हुआ है। गौर हो कि पांवटा साहिब के सिविल अस्पताल में दिनोंदिन बढ़ रही मरीजों की तादात के कारण अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाएं चरमराने लगी हैं। बढ़ती ओपीडी के कारण एक मरीज को अपनी स्वास्थ्य जांच पूरा करने के लिए पूरा दिन तक लग जाता है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने इस अस्पताल का उद्घाटन किया था और जनता को नौ करोड़ का तीन मंजिला सुंदर अस्पताल सौंपा था, लेकिन यहां पर जनता को सुविधाएं चाहिए। जानकार बताते हैं कि गर्भवती महिलाओं को डिलीवरी के समय रैफर कर दिया जाता है। थोड़ी ही ज्यादा चोट लग जाए तो रैफर कर दिया जाता है। यहां पर काफी समय से आपरेशन भी नहीं हो रहे हैं। गौर हो कि अस्पताल में चरमराती स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर गत दिनों पांवटा कांग्रेस ने पत्रकार वार्ता कर सरकार को दस दिन का अल्टीमेटम दिया था, लेकिन उससे पहले ही सरकार ने पांवटा की जनता को बड़ी खुशखबरी दे दी है। पांवटा साहिब के विधायक सुखराम चौधरी ने बताया कि उनका उद्देश्य पांवटा की जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देना है, जिसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं। पिछले डेढ़ साल में अस्पताल मंे लिफ्ट लगा दी गई है। डिजीटल एक्स-रे मशीन और डायलासिस की सुविधा प्रदान कर दी गई है।

You might also like