पाक को 44 करोड़ डालर की मदद बंद

इस्लामाबाद – आर्थिक संकट से गुजर रहे पाकिस्तान को अमरीका ने एक और झटका दिया है। अमरीका ने केरी लूगर बर्मन एक्ट के तहत पाकिस्तान को दी जाने वाली प्रस्तावित आर्थिक मदद में 44 करोड़ डालर की कटौती कर दी है। इस कटौती के बाद पाकिस्तान को 4.1 अरब डालर की धनराशि दी जाएगी। पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक आर्थिक मदद में कटौती के फैसले के बारे में पाकिस्तान को इमरान खान के अमरीकी दौरे से तीन सप्ताह पहले ही आधिकारिक सूचना दे दी गई थी। पाकिस्तान अमरीका से यह आर्थिक मदद पाकिस्तान एन्हांस पार्टनरशिप एग्रीमेंट (पेपा) 2010 के जरिए हासिल करता है। आर्थिक मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक 90 करोड़ डालर की बची हुई अमरीकी मदद पाने के लिए पाकिस्तान ने पिछले सप्ताह ही पेपा की समय सीमा बढ़ाई थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अक्तूबर, 2009 में अमरीकी कांग्रेस ने ‘केरी लूगर बर्मन एक्ट’ पास किया था। इसे लागू करने के लिए सितंबर, 2010 में पेपा पर हस्ताक्षर किए गए। इसके तहत पाकिस्तान को पांच साल की अवधि में 7.5 अरब डालर की मदद दिए जाने की व्यवस्था की गई थी। इस अधिनियम को पाकिस्तान की आर्थिक संरचना में निवेश करने के मकसद से लाया गया था, जिसके तहत देश के ऊर्जा और जल संकट को दूर किया जाना था। आर्थिक मदद में कटौती से पहले 4.5 अरब डालर की धनराशि आबंटित की जानी थी, जो अब घटकर 4.1 अरब डालर पर पहुंच गई है।

कश्मीर पर सड़कों के नाम

इस्लामाबाद – जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 के प्रावधानों को हटाने के भारत के फैसले ने पाकिस्तान के अंदर किस कदर बेचैनी बढ़ा दी है इसका अंदाजा हाल के समय में वहां की सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से जाहिर होता है। भारत के अंदरूनी मामले में हस्तक्षेप की कोशिश कर रहे इस इस्लामिक देश के पीएम इमरान खान दुनियाभर के नेताओं से समर्थन की अपील करते हैं, तो कभी वह भारत के स्वतंत्रता दिवस पर अपनी ट्विटर डीपी को ब्लैक कर देते हैं, तो कभी वहां की सेना नियंत्रण रेखा पर बिना उकसाहट के गोलीबारी शुरू कर देती है और अब इस कड़ी में पाकिस्तान में कुछ जगहों के नाम कश्मीर पर रखने का फैसला किया गया है। पाकिस्तान पंजाब प्रांत की सरकार ने घोषणा की है कि वह कश्मीरी लोगों के साथ सद्भावना व्यक्त करने के लिए 36 सड़कों और पांच प्रमुख पार्कों के नाम कश्मीर पर रखेगी।

You might also like