पीएम मोदी को यूएई का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

अबुधाबी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यूएई का सर्वोच्च नागरिक सम्मान आर्डर ऑफ जायेद से नवाजा गया। यह सम्मान पाने वाले वह पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। पीएम मोदी ने शनिवार को सम्मान लेने से पहले यूएई के शासक के साथ उच्चस्तरीय वार्ता भी की। पीएम मोदी ने यूएई दौरे के दौरान कहा कि दोनों देशों के बीच संबंध लगातार मजबूत हो रहे हैं। पीएम ने यह भी कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत के साथ यूएई हमेशा मजबूती से खड़ा रहा। यह सम्मान राष्ट्र प्रमुखों और राष्ट्रपतियों को दिया जाता है। यह सम्मान साल 2007 में रूस के राष्ट्रपति पुतिन, 2016 में महारानी एलिजाबेथ, और 2018 में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को मिल चुका है। प्रधानमंत्री मोदी बतौर प्रधानमंत्री दो बार यूएई का दौरा कर चुके हैं, वहीं शेख मोहम्मद बिन जायेद भी तीन साल में दो बार भारत आ चुके हैं। उधर, यूएई से पीएम मोदी शनिवार शाम को बहरीन दौरे पर पहुंचे। विदेश मंत्रालय ने उनकी यात्रा से पहले एक बयान में कहा था कि इस पुरस्कार का नामकरण यूएई के संस्थापक शेख जायेद बिन सुल्तान अल नहयान के नाम पर किया गया है। इसका विशेष महत्त्व है, क्योंकि शेख जायेद की जन्म शती वर्ष में प्रधानमंत्री को यह सम्मान दिया जाने वाला है। भारत और यूएई के बीच गर्मजोशी से भरा, करीबी और बहुआयामी संबंध रहा है, जो सांस्कृतिक, धार्मिक और आर्थिक रूप से भी जुड़ा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इससे पहले अगस्त 2015 में यूएई की यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच व्यापक सामरिक भागीदारी भी बढ़ी। यूएई ने अप्रैल में मोदी को देश के सर्वोच्च सम्मान से नवाजे जाने की घोषणा की थी। अबुधाबी के वलीअहद शहजादा मोहम्मद बिन जायेद अल नहयान ने अप्रैल में एक ट्वीट कर बताया कि भारत के साथ हमारे ऐतिहासिक और व्यापक सामरिक संबंध रहे हैं, जिसमें मेरे अभिन्न मित्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने इन संबंधों में और प्रगाढ़ता लाने का काम किया।

 

You might also like