बरसात… सड़कों पर मलबा-पत्थर

कसौली में बारिश ने बढ़ाई पीडब्ल्यूडी की मुश्किलें, छह करोड़ का नुकसान

कसौली -कसौली व आसपास के क्षेत्रों में शुक्रवार को झमाझम बरसात होने से एक बार फिर सड़कों में जगह-जगह पत्थर व मलबा पसरने से लोक निर्माण विभाग की मुश्किलें बढ़ गई हैं। मंडल की कई सड़कों पर भारी मलबा पसरने से सड़कों  पर यातायात व्यवस्था में बाधा उत्पन्न हो जाने की सूचना मिली है। जगह-जगह भू-स्खलन की वजह से रोड बंद भी हुए हैं। अभी तक कसौली मंडल की सड़कों का छह करोड़ से भी अधिक नुकसान हो चुका है, जबकि बरसात के जारी रहने से न केवल नुकसान का आंकड़ा बढ़ा है, बल्कि सड़कों की मरम्मत में आ रही दिक्कतों ने कसौली मंडल की समस्या को और भी जटिल बना दिया है। सरकारी जानकारी के मुताबिक सड़कों का नुकसान करोड़ से भी अधिक मात्रा में हो चुका है। सरकार की ओर से इस प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए सोलन जिला के हर लोक निर्माण मंडल को तीस-तीस लाख रुपए की राशि जारी की जो ऊंट के मुंह में जीरा लगता है। जानकारों का मानना है कि सड़कों का सही सुधार करने के लिए सरकार को उचित धन राशि उपलब्ध करानी होगी तभी इससे निजात दिलाई जा सकती है।  कसौली मेंडल के अंतर्गत 670 किलोमीटर से भी अधिक की सड़कों कि देखरेख के लिए मजदूरों, बेलदारों की भारी कमी बताई जा रही है। लोक निर्माण विभाग के पास जो जेसीबी मशीनरी है वह काफी पूरानी हो चुकी है, जो अब इतना कार्य करने में सक्षम नहीं है। यह मशीनरी पुरानी होने के कारण जल्दी खराब हो जाती है जिसकी वजह से मंडल को आपदा स्थिति में निजी जेसीबी मशीनरी को इस्तेमाल में लाने पर मजबूर होना पड़ रहा है। कसौली  मंडल से मिली सरकारी जानकारी से पता चला कि लोक निर्माण विभाग में मजदूरों की भारी कमी हो चुकी है नई भर्ती पर सरकारी प्रतिबंध है जिसके कारण यह समस्या भविष्य में विकारल होती नजर होती नजर आ रही है। बरहाल समाचार लिखे जाने तक कसौली मंडल में भारी बारिश जारी रही। लोक निर्माण विभाग ने अपने सभी फील्ड कामगारों की छुट्टियां रदद् कर रखी हैं ताकि सड़कों को खोलने में मदद मिल सके।

 

 

You might also like