बाढ़ लील गई 264 जिंदगियां

नई दिल्ली – देश के विभिन्न हिस्सों में बारिश, बाढ़ एवं भू-स्खलन की घटनाओं में मरने वालों की संख्या 264 तक पहुंच गई है, जबकि 46 अन्य लापता हैं। कर्नाटक और ओडिशा को छोड़ अन्य राज्यों में बाढ़ की स्थिति में अब तेजी से सुधार हो रहा है और सेना विभिन्न एजेंसियों के साथ कंधे में कंधा मिलाकर राहत-बचाव कार्याें में जुटी हुई है। बारिश, बाढ़ एवं भू-स्खलन के कारण विभिन्न राज्यों में कई लाख लोग प्रभावित हुए हैं और अधिकतर लोगों को राहत शिविरों में विस्थापितों के समान जिंदगी व्यतीत करनी पड़ी है। सेना समेत विभिन्न सुरक्षा एवं बचाव एजेंसियां राहत तथा बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। पानी घटने से अधिकतर राहत शिविरों में शरण लिए हुए लोग अपने-अपने घरों की ओर लौटने लगे हैं। केरल और कर्नाटक के कुछ हिस्सों में बाढ़ और भूस्खलन के कारण सबसे अधिक नुकसान हुआ है। केरल में अब तक 111, कर्नाटक में 62, गुजरात में 35, महाराष्ट्र में 30, उत्तराखंड और ओडिशा में आठ-आठ लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल में भारी बारिश के बीच बिजली गिरने से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई। केरल और कर्नाटक में भारी बारिश एवं बाढ़ के कारण हुए भू-स्खलन की घटनाओं के बाद से 46 लोग अब भी लापता हैं। केरल में जहां 31 लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है वहीं कर्नाटक में 15 लोग लापता हैं।

You might also like