बिलासपुर में गले मिल मनाई ईद-उल-जुहा

मुस्लिम समुदाय ने मांगी खुशहाली और अमन-चैन की दुआ, मस्जिदों में जाकर अता की नमाज

बिलासपुर -जिला भर में मुस्लिम समुदाय ने सोमवार को ईद-उल-जुहा बकरीद का त्योहार धूमधाम से मनाया। लोगों ने सबसे पहले अपने नजदीकी मस्जिद पर जाकर ईद की नमाज अता की। इसके बाद सभी एक-दूसरे को गले लगाकर मुबारकबाद दी। पूरे बिलासपुर में इस मौके पर जश्न का माहौल देखने को मिला। ईद-उल-जुहा बकरीद को लेकर बिलासपुर में सुबह से ही चहल पहल रही। बच्चों ने रंग-बिरंगे परिधानों में एक-दूसरे को गले लगाकर ईद-उल-जुहा की बधाई भी दी। इस मौके पर शहर में स्थानीय लोगों ने भी एक-दूसरे को ईद की मुबारक कहा। जिला में समुदाय के लोगों को अन्य धर्मों के लोगों ने भी बधाई देकर दिया भाईचारे का संदेश दिया। इस अवसर पर मुस्लिम धर्म के अनुयायियों ने ईदगाह में नवाज अता करके अल्ला से बरकत तथा अमन चैन की की दुआ मांगी। ईद उल जुहा की नमाज बिलासपुर में सुबह नौ बजे तकरीबन जिले की सभाी मस्जिदों में अदा की गई। जिला की मुख्य जामा मस्जिद रौड़ा सेक्टर में समुदाय की रहनुमाई करते हुए मौलाना मोहम्मद अब्दुल वहीद ने ईद-उल-जुहा का महत्त्व तफसील से उपस्थित नमाजियों को समझाया व नमाज के दौरान हुई दुआओं में अमन चैन सुख शांति के अलावा बुराइयों से हिफाजत मांगी। घुमारवीं, टकरेहड़ा, बरठीं, तामड़ी, इलेवाल, स्वारघाट, चकली, कोठीपुरा में भी नमाज हर्ष से अता की गई। ईद के मौके पर समुदाय के लोगों ने एक-दूसरे को मुबारकबाद दी। वहीं दूसरी ओर मस्जिद परिसर के इर्द-गिर्द उत्सव का माहौल था। अधिकांश लोगों ने अपने घरों में कुर्बानी देकर ईद-उल-जुहा के त्योहार को मनाया।

You might also like