बीके अग्रवाल मोदी सरकार में होंगे सचिव लोकपाल

शिमला – हिमाचल सरकार के मुख्य सचिव बीके अग्रवाल केंद्र की मोदी सरकार में सचिव लोकपाल होंगे। बुधवार शाम केंद्र सरकार ने इन आदेशों की अधिसूचना जारी कर दी है। फिलहाल वह मानसून सत्र तक अपनी सेवाएं बतौर मुख्य सचिव हिमाचल में देते रहेंगे। इसके बाद सितंबर माह के पहले सप्ताह वह केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाएंगे। केंद्र की मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ने के लिए लोकपाल को पूरी तरह से सशक्त करने का फैसला लिया है। इस इंस्टीच्यूशन को मोदी सरकार सीबीआई की तर्ज पर मजबूत कर भ्रष्टाचार पर शिकंजा कसने की तैयारी पर है। इसी कारण देश के ईमानदार और निष्ठावान अफसरों में शुमार बीके अग्रवाल को इस पद पर तैनाती दी गई है। जारी अधिसूचना के तहत वर्ष 1985 बैच के आईएएस अधिकारी बीके अग्रवाल अब केंद्र सरकार में सेवाएं देंगे। उल्लेखनीय है कि ‘दिव्य हिमाचल’ ने बीके अग्रवाल के केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने का समाचार दो महीने पहले प्रमुखता से प्रकाशित किया था। बीके अग्रवाल देश के ईमानदार तथा निष्ठावान प्रशासनिक अधिकारियों में शुमार हैं। इसी कारण केंद्र की मोदी सरकार ने उन्हें सचिव पद पर दिल्ली बुलाया है। केंद्र सरकार ने ताजा फेरबदल के तहत भारत सरकार में ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी वर्ष 1982 बैच के आईएएस अधिकारी राजीव गउवा को कैबिनेट सेक्रेटरी नियुक्त किया है। इसके अलावा वर्ष 1985 बैच के आईएएस अधिकारी अजय कुमार को रक्षा मंत्रालय का सचिव बनाया है। इसी तरह वर्ष 1986 बैच के सुभाष चंद्र को रक्षा उत्पाद मंत्रालय के विभाग में सचिव नियुक्त किया है। बहरहाल बीके अग्रवाल की केंद्र सरकार में ताजपोशी के बाद हिमाचल प्रदेश में नए मुख्य सचिव की लॉबिंग तेज हो जाएगी। इसके लिए मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव डा. श्रीकांत बाल्दी प्रबल दावेदार हैं। हालांकि उनका सेवाकाल करीब चार माह का ही शेष बचा है। इसके चलते दावेदारों की सूची में दूसरा बड़ा चेहरा अतिरिक्त मुख्य सचिव रामसुभग सिंह का सामने आ रहा है। उनके पास करीब तीन साल का सेवाकाल शेष है। इसके चलते रामसुभग सिंह मुख्य सचिव की कुर्सी के अगले दावेदार है।

You might also like