मालदीव से भागकर आए पूर्व उप-राष्ट्रपति को सुरक्षा बलों ने उनके देश भेजा

मदुरै  – मालदीव के पूर्व उप राष्ट्रपति अहमद अदीब अब्दुल गफूर को शनिवार को फिर से उनके देश भेज दिया गया। गुरुवार को गफूर एक नाव के जरिए समुद्री मार्ग से यहां पहुंचे थे। पुलिस सूत्रों ने बताया कि मालदीव के सुरक्षा बलों को आज सुबह उनके साथ आए 9 क्रू मेंबर्स के साथ ही प्रत्यर्पित कर दिया गया। अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा (आीएमबीएल) पर भारतीय सुरक्षा बलों ने मालदीव के पूर्व उप राष्ट्रपति को उनके देश की सुरक्षा बलों को सौंप दिया है।  जिस छोटी नाव में गफूर तूतीकोरिन तट पहुंचे थे उसे प्रवेश की अनुमति नहीं थी इसलिए सुरक्षा बलों ने जहाज को रोक दिया। सुरक्षा बलों को जब नाव में पूर्व उप-राष्ट्रपति के सवार होने की जानकारी मिली तो उनसे पूछका की गई। नाव को पोर्ट से कुछ दूरी पर ही रोककर 2 दिनों तक पूछताछ की गई। आज सुबह भारतीय कोस्ट गार्ड के अधिकारियों ने उन्हें मालदीव के सुरक्षा बलों को अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा के पास छोड़ दिया। मालदीव के पूर्व उप-राष्ट्रपति पर देश में विभिन्न केसों की पड़ताल चल रही है। उन्होंने 9 क्रू मेंबर्स की सहायता से देश छोड़कर भागने की कोशिश की थी। अब मालदीव की जांच एजेंसियां उनसे इस पूरे मामले की पड़ताल करेगी। गफूर को पूर्व प्रेजिडेंट अब्दुल्ला यामीन की हत्या के आरोप में अरेस्ट किया गया गया था। उन पर आरोप था कि सितंबर 2015 में उन्होंने यामीन की स्पीडबोट को दुर्घटनाग्रस्त करने की कोशिश की थी। हालांकि, इस मामले में इसी साल मई में उन्हें आरोपमुक्त कर दिया गया। 

You might also like